Wednesday, Jan 26, 2022
-->
delhi university 85 per cent students against online open book exams kmbsnt

DU के 85 प्रतिशत छात्र ओपन बुक एग्जाम के खिलाफ, जानें क्या है कारण

  • Updated on 5/27/2020

 नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) में होने वाली ओपन बुक परीक्षा (Open Book Exam) छात्रों को नहीं भा रही है। शिक्षक संघ ने 48 घंटे का एक सर्वे किया है जिसमें 85 प्रतिशत छात्रों ने ओपन बुक परीक्षा का विरोध किया है। छात्रों ने विरोध का कारण भी बताया है। कई छात्रों का कहना है कि उनके पास लैपटॉप, स्मार्ट फोन या घर पर डेस्कटॉप नहीं है। वहीं कई छात्रों का कहना है कि वो ZOOM ऑनलाइन कक्षाओं में उपस्थित नहीं हो सकते। 

दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संध ने मंगलवार को ऑनलाइन ओपन बुक परीक्षा को लेकर ZOOM एप के जरिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें बताया गया कि 23 से 25 मार्च तक ऑनलाइन सर्वे किया गया। इस सर्वे में 51,452 विद्यार्थियों ने ओपन बुक परीक्षा से जुड़े सवालों के जवाब दिए।

DU ने लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन चल रही पढ़ाई का मांगा ब्यौरा, शिक्षकों ने किया मना

ओपन बुक परीक्षा देने में छात्रों को समस्या
इस सर्वे में पता लगा कि 85 प्रतिशत छात्र ऐसे हैं जिनको ओपन बुक परीक्षा देने में समस्या है।  वहीं 11.9 प्रतिशत छात्रों का कहना है कि उन्हें पढ़ने के लिए सामग्री नहीं मिली। इसके अलावा 38.1 प्रतिशत छात्र ऐसे थे जो ऑनलाइन पढ़ाई की सामग्री का इस्तेमाल ही नहीं कर सके। 

Corona Effect: अगली सूचना तक डीयू ने स्थगित की परीक्षाएं, दी ये जानकारी

DUTA ने भी किया ओपन बुक परीक्षा का विरोध
वही शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजीव रे ने भी ओपन बुक परीक्षा का विरोध किया है। वहीं डूटा के उपाध्यक्ष का कहना है कि जब छात्र ओपन बुक परीक्षा देने को तैयार ही नहीं है तो विश्वविद्यालय प्रशासन क्यों इस परीक्षा को कवाना चाहता है। आखिर प्रशासन पर कौन दबाल डाल रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते आकंड़ों के बाद भी सीबीएसई सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए जुलाई में परीक्षा आयोजित कर रहा है, तो डीयू प्रशासन को क्या दिक्कत है। उन्हें भी जुलाई में परीक्षा आयोजित कर देनी चाहिए। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.