Thursday, Sep 23, 2021
-->
delhi-winter-season-15-thousand-corona-cases-per-day-may-increase-kmbsnt

दिल्ली: सर्दी में कोरोना ढहाएगा कहर! रोज बढ़ सकते हैं 15 हजार मरीज- NCDC

  • Updated on 10/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सर्दियों (Winter) के मौसम में दिल्ली में प्रतिदिन 15000 कोरोना (Coronavirus) के मामले आने की आशंका को देखते हुए अस्पतालों में तैयारी रखने का सुझाव दिया गया है। यह रिपोर्ट नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) ने नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल की अध्यक्षता वाले एक्सपर्ट पैनल के निर्देश पर तैयार की है।

एनसीडीसी ने अपनी रिपोर्ट दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) को सौंप दी है। दिल्ली में कोरोना नियंत्रण के लिए संशोधित रणनीति 3.0 नाम की रिपोर्ट में कहा गया है कि सर्दियों में सांस की समस्या और गंभीर हो जाती है। त्यौहार में भीड़-भाड़ बढ़ती है जिससे संक्रमण फैल सकता है।

इसके अलावा बाहर से भी मरीजों के आने की संभावना जताई गई है। रिपोर्ट में सरकार को अनुमानित 15000 मरीजों के रोज आने के अनुसार अपनी तैयारी रखने को कहा गया है। इसके लिए अनुमानित संख्या 20% को अस्पताल में भर्ती करने के इंतजाम रखने का सुझाव दिया गया है।

दिल्ली में युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध! वॉर रूम शुरू, जल्द लॉन्च होगा ग्रीन एप

त्यौहारों में भीड़ इकट्ठा होने से रोकने की सलाह
रिपोर्ट में बताया गया है कि केरल में ओणम में और महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी में संक्रमण तेजी से बढ़ा। यदि ऐसा होता है तो अभी तक किए गए सारे काम पर पानी फिर सकता है। दिल्ली में इसे रोकना होगा। आने वाले समय में छठ पूजा, दिवाली, दशहरा, क्रिसमस और न्यू ईयर के त्यौहार हैं। रिपोर्ट में सलाह दी गई है कि त्योहारों में भीड़ होने से रोकने के प्रयास किए जाएं। साथ ही गंभीर मरीजों को समय पर इलाज उपलब्ध कराने से मौतों को रोकने की बात कही गई है। रिपोर्ट में मृत्यु दर को रोकने पर काम करने को कहा गया है। 

प्रदूषण पर लगेगी लगाम, 15 से दिल्ली-NCR में डीजल जनरेटर पर रोक

दिल्ली में हो रही टेस्टिग पर भी सुझाव
रिपोर्ट में दिल्ली में टेस्टिंग की संख्या पर भी सुझाव दिए गए हैं। कहा गया है कि टेस्टिंग में कोई विशेष तरीका नहीं अपनाया गया है। कुछ जिलों में पॉजिटिव रेट ज्यादा है जबकि वहां पर टेस्टिंग कम हुई है। रिपोर्ट में टेस्टिंग को कंटेनमेंट जोन और संक्रमित के संपर्क में आने वालों को ट्रेस करने के लिए लक्षित करने को कहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कुल टेस्ट में 80% रैपिड है इसका पॉजिटिविटी रेट 4.3 प्रतिशत है, जबकि आर्टिफिशियल से किए जा रहे बाकी 20% टैक्स का पॉजिटिविटी रेट 20.33% है। यह निष्कर्ष 24 सितंबर तक के आंकड़े दिए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.