Tuesday, May 17, 2022
-->
demolished houses on the road side in indore sohsnt

MP: राम मंदिर के लिए धन संग्रह अभियान पर की थी पत्थरबाजी, प्रशासन ने घर ढहाया

  • Updated on 1/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में दक्षिणपंथी संगठनों (right wing organisations) द्वारा रैलियों के दौरान सांप्रदायिक तनाव और पत्थरबाजी की घटना के मद्देनजर अल्पसंख्यक बहुल इलाके चांदनखेड़ी में कार्रवाई करना शुरू कर दिया गया है। यहां सड़क चौड़ीकरण को लेकर स्थानीय प्रशासन ने बुधवार को अल्पसंख्यक बहुल चांदनखेड़ी गांव में 13 घरों को आंशिक रूप से ध्वस्त कर दिया है। 

ममता सरकार को एक और बड़ा झटका, पूर्व क्रिकेटर लक्ष्मी रतन शुक्ला ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा

सड़क चौड़ीकरण की योजना के तहत कार्रवाई
दरअसल, सड़क चौड़ीकरण की योजना के संबंध में जब स्थानीय तहसील के एसडीएम (SDM) प्रतुल सिन्हा से संपर्क किया गया तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि पहले सिर्फ सड़क निर्माण की योजना थी, लेकिन इस घटना के बाद (हिंसक झड़प) इस सड़क को और चौड़ी करने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि संबंधित इलाके के निवासियों को चिन्हिंत घर खाली करने का एक निश्चत समय दिया गया था।

अखिलेश का केंद्र पर हमला, कहा- धनवानों के लिये किसानों को दांव पर लगा रही है BJP

करीब 13 घरों को किया गया ध्वस्त
उन्होंने बताया की इस कर्रवाई में करीब 13 घरों को ध्वस्त किया गए हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि ध्वस्त किए गए घरों में से एक घर यहां के स्थानीय पंचायत सदस्य मोहम्मद रफीक का भी था।  रफीक की पत्नी ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि प्रशासन ने घर ध्वस्त करने से महज एक दिन पहले उन्हें सूचित किया था।  इसके अलावा उन्होंने कहा कि मेरे पति को पत्थरबाजी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा हमारे सर से छत भी छीन ली सरकार ने अब टूटे घर में कैसे रहेंगे। रफीक की पत्नी ने अपनी मागों को लेकर अधिकारियों से भी बात की है।

CPM नेता सीताराम येचुरी की राय, BJP को हराना है तो विरोधी दलों की TMC से दूरी जरूरी

जानें क्या था पूरा मामला
बता दें कि चांदनखेड़ी गांव मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में स्थित है। यह गांव शहर से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मिली जानकारी के अनुसार इस गांव में लगभग 400 मुस्लिम और 15 हिंदू परिवार रहते हैं। गांव में हाल ही में हिंदू संगठनों के कुछ लोगों द्वारा राम मंदिर के लिए घन जुटाने के उद्देश्य से रैलियाँ की थीं, इस दौरान मुस्लिम गुट के कुछ लोगों ने रैली पर पथराव किया था। इस घटना के बाद दोनों गुट में हिंसक झड़प हो गई थी। हालांकि इस पूरे मामले में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की गई है।   

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.