Tuesday, Dec 07, 2021
-->
demonstration-against-atrocities-on-dalits

दलितों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ प्रदर्शन

  • Updated on 4/5/2018

नई दिल्ली/टीम ​डिजिटल। मोदी सरकार द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अत्याचार निरोधक  अधिनियम 1989 कानून को लेकर सुनवाई में मजबूत पक्ष न रखने के कारण इस कानून के कमजोर होने पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की ओर से बुधवार को संसद मार्ग पर जोरदार प्रदर्शन किया गया, जिसकी अगुवाई प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने की।

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि दलितों को अत्याचार से बचाने के लिए यह कानून उस समय पास किया गया था, जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे। लेकिन मौजूदा सरकार इसे कमजोर बना रही है। प्रदर्शनकारी वाईएमसीए से संसद तक जाने के लिए एकत्रित हुए थे परंतु पुलिस ने बीच में ही सड़कों पर अवरोधक लगाकर उन्हें आगे बढऩे से रोक दिया। प्रदर्शनकारी अपने हाथों में भाजपा की दलित विरोधी नीतियों के खिलाफ  नारे लिखी तख्तियां लिए हुए थे।

मैडम तुसाद म्यूजियम दिल्ली में शाहरुख का पुतला, किंग खान बोले शुक्रिया

कार्यक्रम का मंच संचालन दिल्ली के पूर्व मंत्री राजकुमार चौहान ने किया। प्रदर्शनकारियों में माकन के अलावा एआईसीसी एससी विभाग के चेयरमैन डॉ. नितिन राउत, एआईसीसी के महासचिव पीएल पुनिया, पूर्व सांसद सज्जन कुमार, महाबल मिश्रा, रमेश कुमार, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरविन्दर सिंह लवली, पूर्व मंत्री हारुन यूसुफ, नसीब सिंह, पूर्व विधायक सुरेन्द्र कुमार, जय किशन, चरण सिंह कंडेरा, वीर सिंह धींगान, प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चतर सिंह व बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.