Wednesday, Jan 19, 2022
-->
Demonstration near CM residence against ban on Chhath festival, minor injuries including Tiwari

छठ पर्व पर रोक के खिलाफ सीएम आवास के समीप प्रदर्शन, तिवारी सहित कई मामूली चोटिल

  • Updated on 10/12/2021


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पूर्वांचल समाज के महत्वपूर्ण छठ पर्व पर रोक के विरोध में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के समीप प्रदर्शन के लिए उतरे सांसद मनोज तिवारी सहित कई अन्य भाजपा नेता मामूली रूप से चोटिल हो गए। जिन्हें कुछ समय के लिए डाक्टरों की निगरानी में अस्पताल में रखा गया। मुख्यमंत्री आवास के समीप हुए इस विरोध प्रदर्शन में पूर्वांचल मोर्चा के कार्यकतार्ओं ने दिल्ली सरकार के खिलाफ  नारेबाजी की। 

निगम अपने पूर्वांचलवासियों के लिए सारी व्यवस्था करेगी

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन में उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार छठ महापर्व की व्यवस्था भले न करें लेकिन भाजपा शासित निगम अपने पूर्वांचलवासियों के लिए सारी व्यवस्था करेगी। 
गुप्ता ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने हर बार पूर्वांचलवासियों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि  दिल्ली में लाखों की संख्या में पूर्वांचलवासी रहते हैं और छठ महापर्व को श्रद्धा, विश्वास और आस्था के साथ मनाते हैं, लेकिन शायद यह बात दिल्ली सरकार को रास नहीं आ रही है। 

जानें एक सवाल से कैसे गिरफ्तार हुए आशीष...तो मोदी के मौैन और कांग्रेस के सक्रियता के क्या हैं मायने?
सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि छठ एक आस्था का विषय है इसमें राजनीति तो आनी ही नहीं चाहिए और इसलिए हम राजनीति से हटकर सभी छठ समितियों से मिल रहे हैं। उनकी तैयारी को समझने की कोशिश कर रहे हैं। तिवारी ने कहा लेकिन केजरीवाल सरकार द्वारा छठ पूजा को सीधा न मनाने का फैसला काफी हैरान करने वाली है। उन्होंने कहा कि भाजपा पूरी दिल्ली के छठ व्रत करने वालों की भावना को देखते हुए छठ पर्व को बड़ी हर्षोल्लास के साथ मनाएंगे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के प्रतीक छठ पर्व को मनाने में आखिर क्यों केजरीवाल को इतनी आपत्ति है।
इस दौरान प्रदेश महामंत्री दिनेश प्रताप सिंह, प्रदेश भाजपा मीडिया प्रमुख नवीन कुमार, विधायक अभय वर्मा, प्रदेश प्रवक्ता आदित्य झा, प्रदेश पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष  कौशल मिश्रा, मोर्चा मंत्री एस राहुल, मनीष सिंह आदि शामिल रहे। 

comments

.
.
.
.
.