Wednesday, Dec 11, 2019
dengue-chikangunia awareness programme by ashwini kumar

केंद्रीय मंत्री ने गोल डाकखाना, मंदिर मार्ग में चलाया डेंगू- चिकनगुनिया जागरुकता अभियान

  • Updated on 7/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे बृहस्पतिवार को गोल डाकखाना मंदिर मार्ग इलाके में डेंगू चिकनगुनिया के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्कूल एवं डाक घरों का दौरा किया। ऑन द स्पॉट गमलों एवं कूलर आदि की जांच की। बारिश के मौसम में खुले में एवं गमलों कूलर आदि में अधिक दिनों तक पानी होने से डेंगू चिकनगुनिया जैसी बीमारियों मच्छर पैदा हो जाते हैं।

नियमित रूप से पानी की सफाई हो, बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता है इसे ध्यान में रखकर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा तीन दिवसीय जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया गया है। विभिन्न इलाकों में मंत्री, मंत्रालय के अधिकारी अभियान चला रहे हैं।  इसमें दिल्ली सरकारएमसीडी एनडीएमसी स्थानीय जनप्रतिनिधि शामिल होकर सभी को जागरुक कर रहे हैं।

डाक कर्मी बेहतर संदेशवाहक
गोल डाक खाने स्थित डाकघर में उपस्थित डाक कर्मियों को संबोधित करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि डाक कर्मी बेहतर संदेश वाहक होते हैं। लोगों को जागरूक करने में इनकी अहम भूमिका होती है। सामाजिक कार्यों में इनकी उपयोगिता के महत्व को देखते हुए अपनी महती सेवा देते रहे हैं।

चिट्ठी आदि देते समय डाक कर्मी डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों से बचने के लिए पत्र आदि का वितरण कर सकते हैं। जिससे बड़ी संख्या में लोगों को जागरूक किया जा सके। इस अवसर पर उन्होंने डाक कर्मियों को संकल्प भी दिलाया। कूलर गमलों की जांच की। 

छात्राओं को किया जागरूक
केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने जन जागरूकता अभियान के दौरान एनपी बंगाली गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल पहुंचे। छात्राओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जन जागरूकता लाने में स्कूल में बच्चों का महत्वपूर्ण भूमिका है। वे अपने घरों में साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें। साथी अपने माता पिता पड़ोसियों आदि को भी जागरूक करें। जिससे इस बीमारी से दूर रहा जा सके।

उन्होंने छात्राओं को संकल्प भी दिलाया कि वे अपने सामाजिक उत्तरदायित्व के प्रति भी संवेदनशील रहें। इस अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि बिटिया बचेगी, तो प्रकृति बचेगी। प्रकृति बचेगी, तो सृष्टि बचेगी। सृष्टि बचेगी, तो संस्कृति बचेगी। संस्कृति बचेगा तो देश बचेगा।

उन्होंने छात्राओं की हौसला अफजाई की हर क्षेत्र में आगे बढ़ने को प्रेरित किया। इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एनडीएमसी के वरिष्ठ अधिकारी एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.