Tuesday, Nov 29, 2022
-->
deputy-chief-minister-gave-instructions-for-dengue-control-inspected-the-joint-hospital

उप-मुख्यमंत्री ने डेंगू नियंत्रण के दिए निर्देश, संयुक्त अस्पताल का किया निरीक्षण

  • Updated on 11/10/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। गाजियाबाद में बढ़ते डेंगू मामलों को लेकर उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने संयुक्त जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मंत्री बृजेश पाठक ने डेंगू वार्ड पहुंचे और मरीजों से हाल जाना। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देश दिए कि अस्पताल पहुंचने वाले सभी मरीजों की गहन जांच की जाए। जिले में डेंगू मरीजों की संख्या 700 के नजदीक पहुंचने वाली है। करीब 69 सक्रिय मरीज है। प्रतिदिन 15 से 20 मरीज सामने आ रहे है। जिससे अस्पतालों में भी डेंगू मरीज को भर्ती कर उनका उपचार जारी है।

प्रदेश के विभिन्न जिलों में बढ़ते डेंगू मामलों को लेकर शासन स्तर से लगातार निगरानी की जा रही है। वहीं, वीरवार को उप-मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक स्वयं जिले में पहुंचकर संचारी रोगों के नियंत्रण को लेकर की गई अस्पतालों में व्यवस्थाओं की जांच की। दोपहर करीब 2 बजे स्वास्थ्य मंत्री ने संजयनगर स्थित संयुक्त जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। अस्पताल पहुंचने पर वह सीधे डेंगू वार्ड में पहुंचे।

यहां पहुंचने पर उन्होंने डेंगू वार्ड में भर्ती अमित, जुनैद व 12 वर्षीय एक बच्चा हरिओम से उनका हालचाल जाना। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों को भी मरीजों के इलाज में कोई लापरवाही नहीं बरतने की हिदायत दी। अस्पताल में साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान देने को सीएमएस को निर्देश दिया। इस दौरान सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर, सीएमएस डॉ. विनोद चन्द पाडेंय, फिजिशियन डॉ. आरसी गुप्ता, एंबुलेंस प्रभारी जयविंदर सिंह व अन्य अधिकारी मौजूद रहें। 

क्या बाहर से लानी पड़ रही दवाएं 
संयुक्त अस्पताल में निरीक्षण के दौरान उप-मुख्यमंत्री ने डेंगू वार्ड में भर्ती मरीजों से पूछा कि उन्हें अस्पताल में उपचार सही मिल रहा है। क्या दवाईयां बाहर से लानी पड़ रही है। लेकिन इस संबंध में सभी मरीजों ने इंकार कर दिया। उप-मुख्यमंत्री ने अस्पताल में जरूरत होने पर बेड बढ़ाने के भी निर्देश दिया।
अस्पताल में दिखी सफाई व्यवस्था
मंत्री के दौरे को लेकर जिला के सभी सरकारी अस्पताल व स्वास्थ्य केंद्र अलर्ट रहे। संयुक्त अस्पताल में भी सुबह से ही सफाई व्यवस्था जारी रही। प्रत्येक वार्ड में बेड की चादरों को बदला गया। खिड़कियों के पर्दे साफ-सुथरे दिखे। मरीजों ने बताया कि पर्दे कई दिन बाद बले गए। जबकि चादरें आज वीरवार सुबह ही बदली गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.