Thursday, May 06, 2021
-->
Deputy CM Manish Sisodia shall function as Nodal Minister for COVID management KMBSNT

बढ़ते कोरोना के बीच CM केजरीवाल ने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को सौंपी ये बड़ी जिम्मेदारी

  • Updated on 4/16/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां संक्रमण दर 20 फीसदी को पार कर गई है। स्थिति हर आने वाले दिन के साथ बिगड़ती जा रही है। अस्पतालों में बेड्स बहुत तेजी से भर रहे हैं। ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) पर भरोसा जताते हुए उन्हें बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। 

दिल्ली सरकार की ओर से मिली जानकारी के अनुसार डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया कोविड प्रबंधन के लिए नोडल मंत्री के रूप में कार्य करेंगे और अगले आदेश तक अंतर-मंत्रालयी समन्वय के लिए जिम्मेदार होंगे। पहले से ही कई मंत्रालय संभाल रहे सिसोदिया के ऊपर इस गंभीर होती स्थिति में ये बड़ी जिम्मेदारी आ गई है। 

बता दें कि दिल्ली में  गुरुवार को कोरोना के 16 हजार 699 नए मामले सामने आए और संक्रमण दर बढ़कर 20.22 फीसदी हो गई। पिछले साल जून महीने के बाद यह सबसे ज्यादा संक्रमण दर है। प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोगों के कोरोना से पीड़ित होने के कारण सक्रिय मरीजों की संख्या 54000 के पार पहुंच गई है। हालांकि कुछ राहत की बात ये भी है कि पिछले 24 घंटे में 13 हजार 014 मरीज हुए हैं।

जानें दिल्ली में वीकेंड Lockdown में कैसे हासिल करें ई-पास, दिल्ली सरकार ने की घोषणा

]एक दिन में 112 मरीजों की मौत 
वहीं एक दिन में कोरोना से पीड़ित 112 मरीजों की मौत हो गई है। बीते 5 दिन में ही 417 मरीजों की मौत कोरोना के चलते हुई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में अब तक कुल 7 लाख 84 हजार 137 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें से 69 हजार 714  मामले बीते पांच दिन में आए हैं। इन आंकड़ों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि दिल्ली में कोरोना किस रफ्तार के साथ लोगों को अपना शिकार बना रहा है। 

वीकेंड कर्फ्यू पर मंडी चलेगी जारी होंगे पास

होम आइसोलेशन में 26 हजार से ज्यादा मरीज 
मौजूदा समय में 54 हजार 309 सक्रिय मरीज हैं। इस वजह से अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या 1 दिन में ही 8 हजार 870 से बढ़कर 10 हजार 134 हो गई है। वहीं 429 मरीज कोविड केयर सेंटर और 73 मरीज कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती हैं। होम आइसोलेशन में 26 हजार 974 मरीज इलाज करवा रहे हैं। होम आइसोलेशन में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। वहीं अस्पतालों में आईसीयू और वेंटिलेटर की कमी होने लगी है। 

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.