Wednesday, Jan 29, 2020
devendra-fadnavis-condemnation-motion-in-state-assembly-rahul-gandhi-veer-savarkar

#Savarkar: राहुल गांधी के खिलाफ विधानसभा में निंदा प्रस्ताव लाएगा विपक्ष- फडणवीस

  • Updated on 12/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के सावरकर वाले बयान पर महाराष्ट्र (Maharashtra) में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा है कि वीर सावरकर (Vinayak Damodar Savarkar) पर राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर विपक्ष राज्य विधानसभा में निंदा प्रस्ताव लेकर आएगा। 

गौरतलब है कि दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस की भारत बचाओ रैली के दौरान राहुल गांधी ने सावरकर को लेकर विवादित बयान दिया था। राहुल गांधी ने कहा था कि मैं राहुल सावरकर नहीं राहुल गांधी हूं, कभी माफी नहीं मांगूगा। राहुल गांधी ने ये बयान बीजेपी द्वारा उठाए गए सवालों के चलते दिया था। दरअसल देश में बढ़ती रेप की घटनाओं पर बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि मेक इन इंडिया के स्थान पर हमारा देश में रेप-इन-इंडिया हो रहा है।

सावरकर के पोते ने राहुल गांधी के प्रति जताया रोष, कहा- आपराधिक मामला दर्ज करे सरकार

राहुल गांधी के खिलाफ सदन में बीजेपी का हंगामा
गांधी के इस बयान पर बीजेपी ने कड़ा विरोध किया था। संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन स्मृति इरानी समेत बीजेपी की महिला नेताओं ने राहुल गांधी के खिलाफ सदन में हंगामा किया था और ये मांग की थी कि इस प्रकार का विवादित, देश और महिला विरोध बयान देने के लिए राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। 

Cong-शिवसेना में बढ़ते मतभेद पर मायावती का वार, कहा- सामने आया दोहरा चरित्र

'मैं राहुल गांधी हूं राहुल सावरकर नहीं'
बीजेपी के इस विरोध का जवाब देते हुए ही राहुल गांधी ने सावकर वाला बयान दिया था। बता दें कि साल 1911 में सेल्युलर जेल में सजा काट रहे वीर सावरकर ने ब्रिटिश सरकार को 6 बार माफीनामा लिखा था। इसी पर तंज कसते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि मैं राहुल गांधी हूं राहुल सावरकर नहीं, कभी माफी नहीं मांगूगा। 

राहुल के बयान से शिवसेना हुई आक्रामक, कहा- महापुरुषों का सम्मान करना सीखें

फडणवीस ने शिव सेना पर भी साधा निशाना
राहुल गांधी के विवादित बायन की निंदा करने के बाद फडणवीस ने शिव सेना पर निशाना साधते हुए कहा कि इससे पहले शिवसेना हमारे साथ थी और सभी फैसले एक साथ लिए गए थे। अब, वही शिवसेना उन सभी फैसलों का विरोध कर रही है और काम रोक रही है। बता दें कि शिवसेना ने सत्ता संभालने के बाद मेट्रो कार शेड योजना पर रोक लगा दी थी।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.