Saturday, Sep 19, 2020

Live Updates: Unlock 4- Day 18

Last Updated: Fri Sep 18 2020 09:56 PM

corona virus

Total Cases

5,247,627

Recovered

4,143,247

Deaths

84,717

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA1,145,840
  • ANDHRA PRADESH609,558
  • TAMIL NADU530,908
  • KARNATAKA494,356
  • UTTAR PRADESH342,788
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • NEW DELHI234,701
  • WEST BENGAL215,580
  • BIHAR180,788
  • ODISHA171,341
  • TELANGANA167,046
  • ASSAM148,969
  • KERALA122,216
  • GUJARAT120,498
  • RAJASTHAN109,473
  • HARYANA103,773
  • MADHYA PRADESH97,906
  • PUNJAB90,032
  • CHANDIGARH70,777
  • JHARKHAND56,897
  • CHHATTISGARH52,932
  • JAMMU & KASHMIR52,410
  • UTTARAKHAND27,211
  • GOA26,783
  • TRIPURA20,969
  • PUDUCHERRY18,536
  • HIMACHAL PRADESH9,229
  • MANIPUR7,470
  • NAGALAND4,636
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS3,426
  • MEGHALAYA3,296
  • LADAKH3,177
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2,658
  • SIKKIM1,989
  • DAMAN AND DIU1,381
  • MIZORAM1,333
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
devotees prayed to kanha liberation from coronavirus janamashtami 2020 pragnt

कोरोना से मुक्ति के लिए लगाई श्रद्धालुओं ने कान्हा के आगे अरदास, नहीं दिखी भक्तों की भीड़

  • Updated on 8/12/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 'गोकुल में बाजे बधाई, जन्मे कृष्ण कन्हाई' कान्हा के जन्म पर राजधानीवासियों में उत्साह तो देखने को मिला लेकिन कोरोना के चलते उस उत्साह व उमंग को श्रद्धालुओं ने एक सीमा के भीतर ही कैद रखा। यही नहीं इस मौके पर श्रद्धालुओं ने कान्हा से अरदास लगाई की अब कोरोना रूपी विश्वव्यापि महामारी का जल्दी से अंत हो जाए ताकि दोबारा खुलकर लोग अपने जीवन को जी पाएं। यही वजह रही कि अधिकतर मंदिरों में उतनी भीड़ श्रद्धालुओं की नहीं दिखाई दी जो हर साल होती थी। हाल यह है कि भगवान को भी कई जगह तो अपने भक्तों को ऑनलाइन दर्शन देने के लिए आना पड़ा।

कोरोना के कारण कई मंदिरों में आज विशेष रूप से ऑनलाइन दर्शनों की गई व्यवस्था

झांकियां देखने पहुंचे श्रद्धालु
कृष्ण जन्माष्टमी पर झंडेवालान मंदिर में चार झांकियां बनाई गईं जिसमें कंस कारावास, द्वारकाधीश मंदिर, बांके बिहारीलाल मंदिर व गोवर्धन पर्वत बनाया गया, जिसे देखने के लिए श्रद्धालु पहुंचे। इस दौरान झांकियां एक सीमित क्षेत्र में लगाई गईं, जिन्हें देखते हुए श्रद्धालु सीधे बाहर प्रसाद लेते हुए निकलते रहे। इस दौरान कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंस का पूरा पालन मंदिर प्रशासन द्वारा करवाया जा रहा था। वहीं ऑनलाइन प्रसारण भी किया गया।

जैकी भगनानी और जेजस्ट म्यूजिक ने अपना पहला भक्तिमय ट्रैक 'कृष्णा महामंत्र' किया रिलीज

सोशल डिस्टेंस का हुआ पालन
नंदलाल के दर्शन करने आए श्रद्धालुओं का कोविड-19 के चलते छतरपुर मंदिर में नाम व पता दर्ज किया गया। जगह-जगह खड़े सिक्योरिटी गार्ड लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने के लिए समझाते नजर आए। वहीं रत्नजडित आभूषणाों से भगवान कृष्ण को सजाया गया और पूरे मंदिर परिसर को फूलों व रंगीन बल्बों से सजाया गया था। पूरे दिन मंदिर में श्रीमद्भागवत कथा, गीतासार व कृष्ण धुनी का आयोजन किया गया।

जन्माष्टमी पर न जाएं मथुरा, सभी मंदिर रहेंगे बंद, घर बैठकर ऐसे करें भगवान श्रीकृष्ण के दर्शन

 इस्कॉन मंदिर की भक्तों से अपील
द्वारका स्थित इस्कॉन मंदिर में पुलिस से लेकर सिविल डिफेंस ने पूरी तरह मोर्चा संभाला क्योंकि यहां दिल्ली की सबसे बड़ी जन्माष्टमी मनाई गई। बगैर मास्क यहां इंट्री बैन थी और इस्कॉन मंदिर ने पहले ही भक्तों को कहा कि ऑनलाइन अभिषेक देखें ताकि मंदिर में भीड़ ना हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.