Tuesday, Jan 18, 2022
-->
devotees-throng-temples-to-worship-shailputri

शैलपुत्री की अराधना के लिए मंदिरों में लगा भक्तों का तांता

  • Updated on 10/7/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। मां दुर्गा की उपासना के नौ दिन यानि नवरात्रि पर्व की शुरूआत गुरूवार से हो चुकी है। पहले दिन मां के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री की अराधना मंदिरों में विधि-विधान से की गई। वहीं घरों में भी लोगों ने विधिपूर्वक मां की पूजा करते हुए जौ बोए व कलश को स्थापित किया। 

झंडेवाला देवी मंदिर द्वारा यूट्यूब पर पूजा का हो रहा है सीधा प्रसारण
झंडेवाला देवी मंदिर मे शारदीय नवरात्र उत्सव के प्रथम दिन माँ भगवती के प्रथम स्वरूप माँ शैलपुत्री की आराधना व पूजा अर्चना पूर्ण विधि-विधान के साथ की गई। सुबह 4 बजे से ही मंदिर के पट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। पूरा मंदिर जयकारों से गूंज उठा। भक्तों को लाइनों में कष्ट का अनुभव ना हो इसके लिए लाइनों में पट्टियां बिछाई गईं हैं व सुंदर संगीत की व्यवस्था की गई है। बद्री भगत झंडेवाला टेंपल सोसायटी द्वारा वेद विद्यालय से आए विद्यार्थियों द्वारा की गई आरती व वेद मंत्रों का सीधा प्रसारण यू-ट्यूब पर किया गया। वहीं आने वाले हरेक भक्त को निकास द्वारा पर मां का भंडारा प्रसाद स्वरूप दिया गया। 
प्रकट भए कृपाला, दीनदयाला......

कालकाजी मंदिर में लगातार होगा चंडी यज्ञ
कालकाजी मंदिर के महंत सुरेंद्रनाथ अवधूत ने बताया कि उच्च न्यायालय के आदेश के बाद मंदिर परिसर के बाहर कोविड नियमों का पालन व सुरक्षा के लिए एक एडमिनिस्ट्रेटिव की नियुक्ति की गई है जबकि भवन के अंदर पुजारी नियमों का पालन करवाएंगे। मां का विधिपूर्वक श्रृंगार व पूजन के साथ ही लगातार चंडी यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। प्रसाद की व्यवस्था पैकिंग व डिस्टेंस बनाकर लंगर के रूप में भी की गई है। मंदिर परिसर में पुलिस चैकी बनाने के साथ ही सुरक्षा के मद्देनजर व नियमों का पालन करवाने के लिए सिविल डिफेंस व सिक्योरिटी गार्ड तैनात हैं। आने-जाने वाले रास्तों पर सीसीटीवी लगे हैं, भवन में करीब 40 कैमरे लगे हुए हैं।
लव कुश रामलीला में फिल्म स्टार्स के अलावा 5 केंद्रीय मंत्री भी कर रहे हैं अभिनय

मां आद्यकात्यायनी ने किया स्वर्णाभूषणों से श्रृंगार
सिद्ध पीठ मां आद्यकात्यायनी छत्तरपुर मंदिर को रंगीन बल्बों व फूलों से बेहद खूबसूरती से सजाया गया है। श्रद्धालुओं ने मां शैलपुत्री के दर्शनों के लिए रात से ही लाइन लगा ली थी। विधिपूर्वक पूजन के अलावा दुर्गा सप्तशती का पाठ किया जा रहा है। वहीं मंदिर में विराजमान मां आद्यकात्यायनी व मां महिषासुर मर्दिनी की मूर्तियों को स्वर्णाभूषणों व हीरे के आभूषणों से सजाया गया है। मंदिर प्रशासन के सीईओ डाॅ. किशोर चावला ने कहा कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन सख्ती से करवाया जा रहा है। 
कूडा जलाया तो नहीं होगी खैर, एनडीएमसी वसूलेगी चालान

आज होगी मां ब्रह्मचारिणी की आराधना
नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की आराधना की जाती है। मां दुर्गा का यह दूसरा स्वरूप भक्तों व साधकों को अनंतफल देने वाला है। इनकी आराधना करने वाला जीवन के कठिन संघर्षों में भी विचलित नहीं होता। यही नहीं मां की कृपा से उसे सर्वत्र सिद्धि और विजय भी प्राप्त होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.