Saturday, Jan 29, 2022
-->
digvijay singh raised questions on disha ravi arrest pragnt

दिशा रवि की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- अजीब आरोप लगाना बिल्कुल शर्मनाक

  • Updated on 2/15/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। 'टूलकिट' मामले की जांच कर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने रविवार को बेंगलुरु से क्लाइमेट ऐक्टिविस्ट दिशा रवि (Disha Ravi) को गिरफ्तार किया है। दिशा रवि की गिरफ्तारी को लेकर अब सियासत गर्मा रही है। कांग्रेस (Congress) ने 22 वर्षीय जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) ने कहा- बिल्कुल शर्मनाक। ग्लोबल क्लाइमेट चेंज से जुड़ी एक युवा ऐक्टिविस्ट पर अजीब आरोप लगाया जा रहा है।

Digvijay singh

दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में एक खबर शेयर करते हुए लिखा कि युवा पर्यावरणविद पर अजीब आरोप लगाना शर्मनाक है। ग्लोबल क्लाइमेट चेंज से जुड़े एक युवा एक्टिविस्ट पर अजीब आरोप लगाया जा रहा है। 

Digvijay singh

टूलकिट मामला: दिशा रवि के बाद पुलिस की रडार पर कई संदिग्ध, पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे

इसके अलावा दिशा रवि की गिरफ्तारी पर कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने भी सवाल उठाया है। सिब्बल ने ट्वीट कर कहा कि क्या देश इतना कमजोर है कि एक ट्वीट से उसकी सुरक्षा खतरे में आ जाती है?

टूलकिट मामला: दिशा रवि के बाद पुलिस की रडार पर कई संदिग्ध, पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे

बेंगलुरू से गिरफ्तार हुई दिशा रवि
लालकिले पर हुई हिंसा और किसानों द्वारा किए गए उपद्रव की प्लानिंग के लिए बनाए गए टूलकिट को सोशल मीडिया पर साझा करने और गहरी साजिश रचने के आरोप में क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया गया है। एक्टिविस्ट दिशा रवि ग्रेटा थनबर्ग की दोस्त भी है और दोनों एक ही मंच से जुड़ी भी हुई हैं। स्पेशल सीपी के मुताबिक दिशा ने ही किसान आंदोलन से जुड़ी टूलकिट को एडिट किया था और उसे थनबर्ग को भेजा था। गिरफ्तारी के बाद दिशा को रविवार सुबह कोर्ट के सामने पेश किया गया। जहां से उन्हें पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया।

डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान ट्रांसपोर्टर, मोदी सरकार को दी हड़ताल की चेतावनी

पुलिस कर रही टूलकिट मामले की जांच
बता दें कि दिल्ली पुलिस गणतंत्र दिवस पर हुई लाल किले हिंसा के साथ-साथ टूलकिट मामले की भी जांच कर रही है। 22 वर्षीय दिशा फ्राइडे फॉर फ्यूचर इंडिया अभियान की संस्थापक है और टूलकिट गूगल डॉक के संपादकों में से एक है। पुलिस के मुताबिक, स्पेशल सेल की साइबर सेल ने 4 फरवरी को टूलकिट डॉक्यूमेंट के मद्देनजर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया था, जिसे लेकर पुलिस जांच में लगी थी। गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा की जांच के दौरान ग्रेटा थनबर्ग द्वारा 'टूलकिट' को अपलोड करने की बात का खुलासा हुआ था, जिसे बाद में उन्होंने डिलीट कर दिया था।

पवार बोले- न्यायपालिका पर की गई गोगाई की टिप्पणियां चौंकाने वाली, चिंताजनक

ट्विटर पर माहौल बिगाड़ने की हुई कोशिश- पुलिस
पुलिस को शक है कि ग्रेटा थनबर्ग ने जो टूलकिट डॉक्यूमेंट ट्वीट करने के बाद उसे डिलीट किया था, वो पोएटिक फॉर जस्टिस ग्रुप द्वारा तैयार किया गया होगा। हिंसा को लेकर ट्विटर पर माहौल बिगाड़ने के लिए पूरी 'टूलकिट' अपलोड की गई थी। यह 'टूलकिट' गूगल डॉक्यूमेंट में बनाई गई थी। चूंकि 'टूलकिट' के अंदर कुछ इंस्टाग्राम प्रोफाइल, ट्विटर अकाउंट और ईमेल आईडी भी दिए गए थे, इसलिए दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने इन बसके बारे में और इनके डोमेन आईडी भी गूगल से मांगे हैं। दिल्ली पुलिस 'टूलकिट' की तफ्तीश कर रही है।

गुजरात निकाय चुनाव: आम आदमी पार्टी के रोड शो में उमड़ी जनता, सिसोदिया उत्साहित

साइबर सेल भी अलर्ट
साइबर सेल यह पता लगाने का प्रयास कर रही है इस किट को क्रिएट व अपलोड करने वाला कौन है। इस दौरान पुलिस ने इस मामले में क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि की भूमिका सामने आई, जिसके बाद शनिवार को उन्हें बेंगलुरु से पकड़ लिया गया। दिशा ने माउंट कार्मेल कॉलेज से बीबीए में ग्रेजुएशन कर रखी है। मैसूरु में रहने वाले उसके पिता एथलीट कोच हैं तो वहीं मां गृहणी है। दिशा रवि नार्थ बेंगलुरु के सोलादेवना हल्ली इलाके की रहने वाली है।

दिनेश त्रिवेदी को लेकर ममता की पार्टी TMC ने मोदी सरकार पर बोला हमला

ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट के बाद चर्चा में आया था टूलकिट
यह टूलकिट तब चर्चा में आया था, जब इसे अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए अपने ट्विटर एकाउंट पर साझा किया। उसके बाद पुलिस ने पिछले 4 फरवरी को एफआईआर दर्ज किया था जबकि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 124ए, 120ए और 153ए के तहत बदनाम करने, आपराधिक साजिश रचने और नफरत को बढ़ावा देने के आरोपों में एफआईआर दर्ज की है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.