Saturday, Jan 29, 2022
-->
disha ravi arrested bjp mla pc mohan said burhan and kasab was a 21year old pragnt

Disha Ravi Arrested: BJP सांसद ने दिया अजीबोगरीब तर्क, कहा- अजमल- कसाब भी 21 साल का था

  • Updated on 2/15/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। 'टूलकिट' केस में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल द्वारा क्लाइमेट ऐक्टिविस्ट दिशा रवि (Disha Ravi) की गिरफ्तारी के बाद सत्तापक्ष और विपक्ष की सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है। एक तरफ जहां समूचा विपक्ष दिशा रवि की गिरफ्तारी को लेकर सरकार पर हमला बोल रहा है तो वहीं दूसरी ओर बीजेपी (BJP) लगातार पलटवार कर रही हैं। इस बीच बीजेपी सांसद ने अजीबो गरीब ट्वीट कर दिशा रवि की तुलना बुरहान वानी और अजमल कसाब से कर दी है।

दिशा रवि की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- अजीब आरोप लगाना बिल्कुल शर्मनाक

BJP सांसद का अजीबोगरीब ट्वीट
बेंगलुरु से बीजेपी सांसद पीसी मोहन (P C Mohan) ने ट्वीट कर लिखा, 'बुरहान वानी 21 साल का था। अजमल कसाब 21 साल का था। उम्र महज एक नंबर है। कानून से ऊपर कोई नहीं है। अपराध अपराध है।'

दिशा रवि की गिरफ्तारी पर बोले CM केजरीवाल- यह लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला

अनिल विज भी बरसे
वहीं इसके बाद दिशा रवि की गिरफ्तारी पर हरियाणा के मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने भी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। विज ने ट्वीट कर लिखा, 'देश विरोध का बीज जिसके भी दिमाग में हो उसका समूल नाश कर देना चाहिए फिर चाहे वह दिशा रवि हो या कोई और।'

इससे पहले टूलकिट मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने तंज कसते हुए कहा- 'ये सब टूल एक ही किट के चट्टे बट्टे हैं।'

टूलकिट मामला: दिशा रवि के बाद पुलिस की रडार पर कई संदिग्ध, पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे

लाल किला हिंसा और टूलकिट मामले की जांच तेज
दिल्ली पुलिस ने लाल किला हिंसा के साथ-साथ टूलकिट मामले की जांच भी तेज कर दी है, जिसके चलते बीते रविवार को पहली गिरफ्तारी की गई। इसके अलावा टूलकिट मामले में शामिल निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी कर दिए गए हैं। ऐसी उम्मीद है कि जल्द ही इस मामले में अन्य गिरफ्तारियां भी होंगी।

Toolkit case: टूलकिट मामले में निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

5 दिन  की पुलिस रिमांड पर दिशा रवि
मालूम हो कि बीते रविवार को ग्रेटा थनबर्ग टूलकिट मामले में बेंगलुरू की एक 21 वर्षीय जलवायु कार्यकर्ता और फ्राइडे फॉर फ्यूचर इंडिया अभियान की संस्थापकों में से एक दिशा रवि को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया, जहां दिल्ली की एक अदालत ने दिशा को 5 दिन की दिल्ली पुलिस की विशेष सेल की हिरासत में भेज दिया है।

टूलकिट मामले की जांच कर रही स्पेशल सेल के मुताबिक, दिशा ने ही किसान आंदोलन से जुड़ी टूलकिट को एडिट किया था और उसे थनबर्ग को भेजा था। दिशा पर आरोप है कि वह देश के खिलाफ किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की तैयारी में थी। दिशा रवि के अलावा अभी इस मामले में कई अन्य गिरफ्तारियां होनी हैं, जोकि भारत विरोधी साजिश का  एक बड़ा खुलासा कर सकती हैं। 

LPG की कीमतों को लेकर PM मोदी पर बरसे राहुल, कहा- जनता को लूट रही सरकार

बेंगलुरू से गिरफ्तार हुई दिशा रवि
लालकिले पर हुई हिंसा और किसानों द्वारा किए गए उपद्रव की प्लानिंग के लिए बनाए गए टूलकिट को सोशल मीडिया पर साझा करने और गहरी साजिश रचने के आरोप में क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया गया है। एक्टिविस्ट दिशा रवि ग्रेटा थनबर्ग की दोस्त भी है और दोनों एक ही मंच से जुड़ी भी हुई हैं। स्पेशल सीपी के मुताबिक दिशा ने ही किसान आंदोलन से जुड़ी टूलकिट को एडिट किया था और उसे थनबर्ग को भेजा था। गिरफ्तारी के बाद दिशा को रविवार सुबह कोर्ट के सामने पेश किया गया। जहां से उन्हें पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया।

CM बिप्लब कुमार ने किया दावा, अमित शाह नेपाल और श्री लंका में भी बनाएंगे BJP की सरकार

दिशा रवि से पूछताछ जारी
फिलहाल, जांच टीम ने दिशा रवि का फोन जब्त कर लिया है, और आगे की पुछताछ कर रही है। इससे पहले पुलिस ने गूगल और अन्य सोशल मीडिया कंपनियों से टूलकिट को तैयार करने वाले से जुड़े ईमेल आईडी, डोमेन यूआरएल और अन्य जानकारी मांगी थी। दिशा रवि पर आरोप है कि उसने किसान आंदोलन से संबंधित टूलकिट को एडिट किया और उसे आगे फॉरवर्ड किया था। टूलकिट मामले को लेकर दिल्ली पुलिस का कहना है कि टूलकिट का मकसद भारत सरकार के खिलाफ साजिश रचना है। 

Farmers Protest: हक की लड़ाई में किसानों के साथ 11 वकीलों की टीम, जारी रहेगा आंदोलन

विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज
बता दें कि यह टूलकिट मामला चर्चा में तब आया जब इसे अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया था। उसके बाद पुलिस ने बीते 4 फरवरी को एफआईआर दर्ज की थी, जबकि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में भारतीय दंड सहिता (IPC) की धारा 124A, 120A और 153A के तहत बदनाम करने आपराधिक साजिश, राजद्रोह के तहत अन्य विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.