Monday, May 23, 2022
-->
district administration seized 72 buses going to eastern uttar pradesh and bihar

दिल्ली से पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार तक चलने वाली 72 बसें हुईं जब्त

  • Updated on 7/4/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली से पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार तक सवारी लेकर जाने-आने वाली निजी बसों के खिलाफ बृहस्पतिवार को जिला प्रशासन ने एक संयुक्त अभियान चलाया और 72 बसों को जब्त किया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के मीडिया प्रभारी प्रभात दीक्षित ने बताया कि दिल्ली से पूर्वांचल और बिहार के लिए सवारी भरकर चलने वाली निजी बसों के खिलाफ आज जिला प्रशासन, परिवहन विभाग तथा पुलिस ने एक संयुक्त अभियान चलाया। 

कांग्रेस नेताओं को सताई पार्टी के भविष्य की चिंता, हरिश रावत भी आहत

इसके तहत नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना एक्सप्रेस वे पर औचक जांच की गई। उन्होंने बताया कि इस अभियान में नियमों का उल्लंघन करने पर 72 बसों को जब्त किया गया। मीडिया प्रभारी ने बताया कि ये बसें अवैध रूप से संचालित की जा रही थी।

केजरीवाल सरकार ने अब तीर्थयात्रा योजना को पहनाया अमलीजामा

बसों का प्राइवेट पार्टी ढोने का नेशनल परमिट है, लेकिन बस मालिक इसका इस्तेमाल यात्री ढोने के लिए कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी अवैध रूप से संचालित 50 बसों को जिला प्रशासन ने जब्त किया था।गौरतलब है कि कल नोएडा पुलिस ने एक विशेष अभियान चलाकर अवैध रूप से चलने वाले 1174 ऑटो रिक्शा जब्त किये थे। 

कमलनाथ पर बरसीं मायावती, कहा- MP में सरकार बदली है, गरीबों का जीवन नहीं

परमिट के नियमों का उल्लंघन करके चलाई जा रही निजी बसों को जब्त करने से आक्रोशित ऑल इंडिया लग्जरी बस यूनियन के अध्यक्ष श्यामलाल गोला के नेतृत्व में बस मालिकों ने जिला प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन तथा नारेबाजी की। यूनियन के अध्यक्ष ने कहा कि उनके पास ऑल इंडिया के परमिट सहित सभी कागजात हैं।

#BJP की अनुशासन समिति को नहीं मिला आकाश विजयवर्गीय का मामला

इसके बावजूद भी जिला प्रशासन मनमाने तरीके से कार्रवाई कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि आज सुबह कार्रवाई के दौरान बस के चालकों और अन्य कर्मचारियों के साथ पुलिस ने मारपीट की तथा बसों के टायर पंचर कर दिए।

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी अलका लांबा, युवाओं से कही ये बात...

उन्होंने आरोप लगाया कि बसों में सवार महिलाएं, बच्चे, बूढ़ों को जिला प्रशासन के र्किमयों ने जबरन बस से सड़क पर उतार दिया। जिला प्रशासन के इस अभियान के चलते बसों में सवार यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

वहीं कल जिला प्रशासन द्वारा 1174 ऑटो रिक्शा को जब्त किए जाने से आक्रोशित भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के नेताओं ने जेवर थाने पर पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया।   उनका आरोप है कि पुलिस किसानों के ऑटो जब्त कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.