Wednesday, Aug 04, 2021
-->
dmk targets central government over nep, eia and upsc 2020 exams pragnt

DMK ने साधा केंद्र पर निशाना, NEP और UPSC exams को लेकर की ये मांग

  • Updated on 9/9/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। द्रमुक (DMK) ने बुधवार को पार्टी की आम सभा में कई मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार (Central Government) पर हमला बोलते हुए राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 (NEP) को लागू नहीं करने और पर्यावरण प्रभाव आकलन अधिसूचना मसौदा (EIA) को वापस लेने की मांग की।

दिल्ली: डिप्टी सीएम सिसोदिया ने NEP के कार्यान्वयन पर उठाए गंभीर सवाल

उठाई जांच की मांग
पार्टी ने 2019 के केंद्रीय लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में 'अन्य पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जाति के सामाजिक न्याय के अधिकार को छीनने' की निंदा की और जांच की मांग की। पार्टी के अध्यक्ष एम के स्टालिन ने इस बैठक की अध्यक्षता करते हुए एनईपी का विरोध किया और बताया कि इस नीति के कई प्रस्ताव 'प्रतिगामी' हैं और राज्यों के लिए 'अपमानजनक' हैं और यह शिक्षा का 'केंद्रीकरण' करता है।

कांग्रेस बोली- पर्यावरण से खिलवाड़ कर उद्योगपति मित्रों को लाभ पहुंचाना चाहती है मोदी सरकार 

द्रमुक ने कहा ये 
देश के उच्च शिक्षा आयोग द्वारा राज्यों के विश्वविद्यालयों को 'केंद्र के नियंत्रण में' लेने के प्रस्ताव, कला और विज्ञान पाठ्यक्रमों में प्रवेश परीक्षा, विदेशी विश्वविद्यालयों को मंजूरी, केंद्रीय स्तर पर पाठ्यक्रमों का तैयार होना और स्वायत्त केंद्रीय क्लासिकल तमिल संस्थान को एक विश्वविद्यालय के साथ 'मिलाने' जैसे कदम पार्टी को स्वीकार्य नहीं हैं।

EIA मसौदा भारतीय भाषाओं में प्रकाशित नहीं होने पर मोदी सरकार के खिलाफ अवमानना याचिका

लगाए ये गंभीर आरोप
पार्टी ने आरोप लगाया कि इस नीति में संस्कृत को 'प्रमुखता' दी गई है और अन्य भारतीय भाषाओं के प्रति 'सौतेला' व्यवहार किया गया है। वहीं पार्टी ने पर्यावरण प्रभाव आकलन अधिसूचना मसौदा (ईआईए) का विरोध करते हुए कहा कि यह पर्यावरण की रक्षा के मौजूदा कानूनों को कमजोर करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.