Monday, Nov 28, 2022
-->
doctors protest against nmc bill housearrest

केंद्र सरकार का हड़ताली डॉक्टरों के खिलाफ कड़ा रुख, दी ये चेतावनी...

  • Updated on 8/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नेशनल मेडिकल कमीशन विधेयक (National Medical Commission) के विरोध में उतरे दिल्ली के रेसिडेंट डॉक्टरों (Resident Doctors) के विरुद्ध एम्स प्रशासन (AIIMS Admin) ने कड़ा रुख अपना लिया है।एम्स प्रशासन ने डॉक्टरों के परिसर से बाहर जाने पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही एम्स प्रशासन ने परिसर में पैरामिलिट्री फोर्स की तादाद बढ़ दी है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी अस्पताल प्रशासन को चेतावनी दी है।

सूत्रों की मानें तो स्वास्थ्य मंत्रालय ने एम्स, सफदरजंग और आरएमएल के एमएस और निदेशक को कड़ा निर्देश दिया है कि डॉक्टरों पर शिकंजा कसा जाए नहीं तो अस्पताल प्रशासन के खिलाफ सख्त कारवाई करेंगे। वहीं एम्स प्रशासन ने मंत्रालय से शाम तक की मोहलत मांगी है। 

सफदरजंग अस्पताल के प्रशासन ने तत्काल आदेश जारी किया है कि सभी डॉक्टरो काम पर लौट जाएं, नहीं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

 


वहीं सफदरजंग हॉस्पिटल के बाहर आए हजारों डॉक्टर रिंग रोड पर बैठक कर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। सफदरजंग के डॉक्टरों ने रिंग रोड जाम कर दिया है, जिसके चलते वहां वाहनों की लंबी कतार लगी।

NMC बिल के खिलाफ तीसरे दिन भी जारी डॉक्टरों की हड़ताल, मरीज परेशान

नीम-हकीमी को वैध करने का प्रवधान

इस विधेयक की धारा 32 के तहत नीम-हकीमी को वैध करने का प्रवधान किया जा रहा है। जिसके कारण इंडियन मेडिकल एसोसिएशन इसका विरोध कर रहा है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का मानना है कि इस विधेयक के द्वारा लोगों की सुरक्षा के साथ समझौता किया जा रहा है। साथ ही आईएमए ने इसे लोकतंत्र पर प्रहार भी बताया है। डॉक्टर्स का कहना है कि इस विधेयक के तहत समान अवसर के संवैधानिक सिद्धांत का उल्लंघन किया जा रहा है। बता दें कि लोकसभा में पास होने के बाद इस बिल को अब राज्यसभा में भी पास कर दिया गया है। 

NMC बिल के खिलाफ हड़ताल कर रहे डॉक्टरों से मिले हर्षवर्धन, कही ये बात...

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की थी ये अपील 

शु्क्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री (Union Health Minister) डॉक्टर हर्षवर्धन (Dr Harshvardhan) ने हड़ताल (Strike) कर रहे डॉक्टरों से मुलाकात की थी। हर्षवर्धन ने डॉक्टरों से काम पर लौटने की भी अपील की थी। दिल्ली (New Delhi) सहित देश भर के डॉक्टर नेशनल मेडिकल कमीशन (National Medical Commission Bill) बिल  के खिलाफ हड़ताल पर हैं। 

हर्षवर्धन ने मीडिया को बताया था कि मैने डॉक्टरों से मुलाकात कर नेशनल मेडिकल कमीशन के प्रावधानों को लेकर हो रही गलतफेहमी के विषय में बात की। साथ ही उनको ये भी बताया कि ये विधेयक देश, डॉक्टरों और मरीजों की भलाई के लिए ही है। मैंने उनसे अपील की है कि इस विरोध प्रदर्शन को बंद कर काम पर लौंटे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.