Sunday, Jan 23, 2022
-->
doctors-said-wrong-results-of-corona-s-kit-are-increasing-stress

डॉक्टरों ने कहा, कोरोना की किट के गलत नतीजे बढा रहे हैं तनाव

  • Updated on 1/14/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। कोरोना की होम किट आने के बाद लोग अपनी मर्जी से घर बैठे बिना डॉक्टरी सलाह के उसे जांच कर रहे हैं। ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि इस किट के नतीजे भरोसेमंद नहीं है, जिसके चलते लोग भी बेवजह तनाव में आ सकते हैं। हालांकि इस किट के प्रयोग की मंजूरी आईसीएमआर द्वारा दे दी गई है।
कोविड से मौत की संख्या कम बताने वाली खबरें निराधार और भ्रामक: सरकार

जाने कैसे किया जाता है किट से जांच
बता दें कि कोरोना की जांच के लिए लोग किट खरीदकर उसके बाद गूगल प्लो स्टोर या एप्पाल स्टोर पर होम टेस्टिंग की जांच वाले ऐप को डाउनलोड करते हैं। फिर उसपर अपना पंजीकरण डालते हैं। जांच किट के अंदर स्वॉब स्टिक, सॉल्यूशन, टेस्ट कार्ड और टेस्टिंग मैनुअल होता है। स्वॉब स्टिक से सैंपल लेकर उसे सॉल्यूशन में डाला जाता है और उसके बाद टेस्ट कार्ड पर उसकी एक बूंद डाली जाती है। जिसका रिजल्ट 15 मिनट में आता है यदि टेस्ट कार्ड दो लाल लाइन आती है तो रिजल्ट पॉजीटिव माना ताजा है और एक लाइन आने पर नेगेटिव। 
कलाकुंभ के जरिए कलाकार देंगे गुमनाम नायकों को श्रद्धांजलि

किट की गलत रिपोर्ट देती है तनाव: प्रो. जुगल किशोर
सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष प्रो. जुगल किशोर कहते हैं कि घर पर जांच कर रहे सभी लोगों को टेस्ट की तस्वीर मोबाइल फोन के जरिये ऐप में अपलोड करना अनिवार्य है लेकिन कई लोग इसके जांच के नतीजे की सूचना सरकार को दिए बिना भी टेस्ट किट का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे सरकार के पास भी कोरोना संक्रमितों के सही आंकड़े उपलब्ध नहीं हो पाते। वहीं किट कई बार गलत आंकडे दे सकती है। जबकि आरटीपीसीआर जांच सबसे बेहतर होती है। हालांकि सिर्फ 30 फीसदी ही आरटीपीसीआर जांच के गलत रिपोर्ट आने के चांसेज होते हैं। कई बार किट पॉजिटिव नतीजा बता देती है जबकि व्यक्ति संक्रमित ही न हो तो इससे वह तनाव में भी आ सकता है। 
ऑड-इवन नहीं सदर में खुलेंगी लेफ्ट राइट दुकानें

बिक रही हैं रोजाना हजारों किट: नांगिया
ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट के राष्ट्रीय सचिव संदीप नांगिया ने बताया कि दिसम्बर तक एक भी घर पर जांच करने वाली किट नहीं बिक रही थी लेकिन जनवरी में अब हर रोज 12 से 15 हजार होम कोरोना जांच किट की बिक्री दिल्ली में हो रही है। वैसे निजी दफ्तर बंद होने के बाद इसकी बिक्री में थोड़ी कमी आयी है। बाजार में ऐसी सात अलग अलग कम्पनी की किट उपलब्ध हैं जोकि 200 से 350 रूप्ए तक की कीमत में मिल रही हैं।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.