Wednesday, Apr 01, 2020
donald trump raise issue of highest trade tariffs india

यात्रा से पहले ट्रंप की शिकायत- सबसे ज्यादा व्यापार शुल्क लगाने वाले देशों में से एक भारत

  • Updated on 2/22/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमरीका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने अपनी भारत यात्रा से पहले एक बार फिर व्यापार में ऊंचे शुल्क का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि भारत कई साल से अमरीका के साथ व्यापार में सख्त रवैया अपनाए हुए है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ इस बारे में उनकी बातचीत होगी। 

ट्रम्प पहले भी कई बार भारत पर व्यापार के मामले में अमरीका के उत्पादों पर काफी ऊंचे शुल्क लगाने की शिकायत कर चुके हैं। वह भारत को शुल्क लगाने का चैंपियन तक कह चुके हैं। कोलोराडो में गुरुवार को ‘कीप अमरीका ग्रेट’ रैली में ट्रम्प ने कहा, ‘मैं अगले सप्ताह भारत जा रहा हूं और हम व्यापार पर बात करने वाले हैं। वह कई साल से हमारे साथ सख्त व्यवहार कर रहे हैं।’  

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के साबरमती आश्रम के दौरे पर सस्पेंस बरकरार

मोदी को पसंद करते हैं ट्रंप
ट्रम्प ने अपने हजारों समर्थकों के सामने कहा कि वह ‘वास्तव में’ मोदी को ‘पसंद’ करते हैं और वे आपस में व्यापार पर बातचीत करेंगे। उन्होंने कहा, ‘हम कुछ बातचीत करेंगे, व्यापार पर भी बातें होंगी। यह हमें बुरी तरह प्रभावित कर रहा है। वे हमारे ऊपर शुल्क लगाते हैं। दुनिया में सबसे ऊंचे शुल्क लगाने वालों में से भारत भी एक है।’ इस यात्रा से पहले ऐसी खबरें आ रही है कि भारत और अमरीका व्यापार में कुछ मुद्दों पर सहमत हो गए हैं।

दोनों देशों के बीच बड़े व्यापार समझौते से पहले इस यात्रा के दौरान कुछ सहमतियों की घोषणा की जा सकती है। उन्होंने इस यात्रा के दौरान व्यापार समझौता होने की संभावनाओं को कम करते हुए कहा कि दोनों देश बेहतर व्यापार समझौता कर सकते हैं, लेकिन उन्होंने इस बात के भी संकेत दिए कि समझौता उनकी पसंद का नहीं होने की स्थिति में इस पर चल रही बातचीत की गति धीमी पड़ सकती है।

ट्रंप के दौरे को लेकर छिड़ा विवाद, कांग्रेस ने पूछा- किसके बुलावे पर भारत आ रहे US प्रेसिडेंट

जबर्दस्त व्यापार समझौते की उम्मीद
ट्रम्प ने लास वेगास में ‘होप फॉर प्रिजनर्स ग्रेजुएशन सेरेमनी’ कार्यक्रम की शुरुआत में कहा, ‘मैं भारत जा रहा हूं और हम वहां जबर्दस्त व्यापार समझौता कर सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हो सकता है कि हम बातचीत की गति को धीमा करें या चुनाव के बाद समझौता करें। मेरा मानना है कि ऐसा हो भी सकता है। इसलिए हम देखेंगे कि क्या होता है।’ ट्रम्प ने कहा, ‘हम तभी समझौता करेंगे जब यह अच्छा होगा क्योंकि हम अमरीका के हितों को आगे रख रहे हैं। लोगों को यह पसंद आए या नहीं, लेकिन हम अमरीका के हितों को वरीयता दे रहे हैं।’

ट्रंप के स्वागत पर सजेगा लुटियन, NDMC फूलों से सजाएगा राष्ट्रपति भवन के सभी द्वार व सड़कें

सुरक्षा पर रोज 750 करोड़ खर्च करेगा
ट्रम्प की भारी-भरकम सुरक्षा व्यवस्था सुर्खियों में है। कुछ मीडिया रिपोर्टों के अनुसार अमरीकी निगरानी संगठन फैक्टचैक ऑर्ग और पॉलिटीफैक्ट डॉटकॉम के मुताबिक, यह खर्च 90 से 100 मिलियन डॉलर के हिसाब से 700 से 750 करोड़ रुपए तक होगा। ट्र्म्प के साथ करीब 2,000 अमरीकियों का दल भारत आएगा। इनके रहने के लिए फाइव स्टार होटलों में 870 कमरे बुक किए गए हैं। इतना ही नहीं जिस विमान (एयरफोर्स-1) से ट्रम्प आ रहे हैं उसका ही प्रति घंटा खर्च 71 लाख रुपए है जबकि सामान लेकर साथ आए कार्गो विमान का खर्चा 5 लाख रुपए प्रति घंटा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.