Friday, Feb 28, 2020
donald trump us president india visit wall built in ahmedabad to cover slums

ट्रम्प की यात्रा से पहले झुग्गियां ढंकने के लिए अहमदाबाद में बन रही दीवार

  • Updated on 2/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपनी पत्नी मेलानिया के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के न्यौते पर दो दिन के दौरे पर भारत आने वाले हैं। वह और प्रधानमंत्री मोदी 24 फरवरी को अहमदाबाद पहुंचेंगे। यहां दोनों नेता रोड शो करेंगे। ऐसे में अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोडऩे वाली सड़क के साथ एक दीवार बना रहा है ताकि झुग्गी बस्तियों वाले क्षेत्र को छुपाया जा सके। 

सुप्रीम कोर्ट अब सियासत में ‘सफाई’ के लिए सख्त, पार्टियों को दिए खास निर्देश

24 फरवरी को गुजरात पहुंचेंगे अमरीकी राष्ट्रपति
नागरिक निकाय जिस दीवार का निर्माण कर रहा है वह आधे किलोमीटर से ज्यादा लंबी और छह से सात फीट ऊंची है। इसे अहमदाबाद हवाईअड्डे से गांधीनगर की ओर जाने वाली सड़क पर सौंदर्यीकरण अभियान के तहत मोटेरा में सरदार पटेल स्टेडियम के आसपास बनाया जा रहा है। एएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘अनुमानित 600 मीटर की दूरी पर झुग्गी बस्तियों को छुपाने के लिए 6-7 फीट ऊंची दीवार बनाई जा रही है। यहां पर पौधारोपण अभियान भी चलाया जाएगा।’ 

चिदंबरम बोले- एक भी मुस्लिम को डिटेंशन सेंटर में भेजा तो करें बड़ा आंदोलन

एएमसी साबरमती नदी के किनारे पर सौंदर्यीकरण के तहत खजूर के पेड़ लगाएगी। इससे पहले ऐसे ही सौंदर्यीकरण का काम तब किया गया था जब जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अपनी पत्नी अकी आबे के साथ दो दिन के गुजरात दौरे पर 2017 में 12वें भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे। 

दिल्ली चुनाव : BJP को कई बूथों पर मिला जीरो, नोटा उससे भी आगे

राष्ट्रपति ट्रम्प ने बुधवार को एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वह पत्रकारों से यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे कहा है कि हवाईअड्डे से नए स्टेडियम (मोटेरा) तक 5 से 7 मिलियन लोग वहां मौजूद होंगे। जो लगभग पूरे अहमदाबाद शहर की जनसंख्या है।

‘हाउडी मोदी’ में रखी गई थी न्योते की नींव
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते साल सितम्बर में अमरीका का दौरा किया था। वहां उन्होंने ह्यूस्टन में 50 हजार लोगों की एक बड़ी रैली ‘हाउडी मोदी’ को संबोधित किया था। इस दौरान ट्रम्प ने पीएम मोदी के साथ मंच साझा किया था। पीएम मोदी ने ट्रम्प को भारत आने के लिए आमंत्रित किया था।

मेलानिया ट्रम्प भी हैं भारत यात्रा को लेकर उत्साहित 
अमरीका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प ने कहा है कि वह और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प इस माह के अंत में होने वाली भारत यात्रा को लेकर बेहद उत्साहित हैं। मेलानिया ने ट्वीट किया कि प्रथम महिला के तौर पर भारत की उनकी यात्रा दोनों देशों के बीच निकट संबंधों का जश्न मनाने का अवसर है। उन्होंने भारत आने का आमंत्रण देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया। गौरतलब है कि ट्रम्प और उनकी पत्नी 24 और 25 फरवरी को भारत जाएंगे। अमरीकी राष्ट्रपति और प्रथम महिला दिल्ली के अलावा मोदी के गृह राज्य गुजरात की राजधानी अहमदाबाद भी जाएंगे। मेलानिया ने ट््वीट किया,‘ इस माह के अंत में अहमदाबाद और दिल्ली की यात्रा के लिए उत्सुक हूं।’

दिल्ली में #AAP की जीत से CPIM उत्साहित, BJP-RSS पर साधा निशाना

भारत में मानवाधिकार के आकलन की मांग 
अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे से पहले चार प्रभावशाली अमरीकी सांसदों ने कश्मीर में मानवाधिकार हालात और देश में धार्मिक स्वतंत्रता की स्थिति का आकलन करने की मांग उठाई और कहा कि सैकड़ों कश्मीरी अभी भी ‘एहतियातन हिरासत’ में हैं। जिन सांसदों ने यह मांग की है वे खुद को ‘भारत का दीर्घकालिक मित्र’ बताते हैं। सांसदों के द्विदलीय समूह ने विदेश मंत्री माइक पोम्पियो को भेजे पत्र में कहा है कि किसी भी लोकतंत्र में सर्वाधिक अवधि तक इंटरनेट ठप रहने की घटना भारत में हुई है, इससे 70 लाख लोगों तक चिकित्सा, कारोबार तथा शिक्षा की उपलब्धता बाधित हुई है। 

यूपी में रजिस्ट्री की फीस बढ़ाने के लिए जारी हुआ शासनादेश, फ्लैट खरीदारों पर दोहरी मार

हालांकि अधिकारियों का कहना है कि सुरक्षा हालात का जायजा लेने के बाद घाटी में इंटरनेट चरणबद्ध तरीके से बहाल किया जा रहा है। सांसदों ने पत्र में लिखा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर की स्वायत्ता एकतरफा तरीके से खत्म करने के छह महीने बाद भी सरकार ने क्षेत्र में इंटरनेट पर पाबंदी लगा रखी है। 

पाक ने भारत को एकीकृत वायु रक्षा प्रणाली बेचने के फैसले पर जताई निराशा
पाकिस्तान ने अमरीका द्वारा भारत को एकीकृत वायु-रक्षा प्रणाली बेचे जाने को ‘परेशान’ करने वाला बताते हुए वीरवार को कहा कि यह पहले से अस्थिर क्षेत्र को और अस्थिर करेगा। अमरीका ने एकीकृत वायु रक्षा प्रणाली को भारत को 1.9 अरब डॉलर में बेचे जाने को मंजूरी दे दी। इससे भारत को सशस्त्र बलों का आधुनिकीकरण करने और हवाई हमलों से उत्पन्न खतरों का मुकाबला करने के लिए अपनी मौजूदा वायु रक्षा संरचना का विस्तार करने में मदद मिलेगी। 

#BJP को अगर #EVM की मदद नहीं मिले तो वह कोई चुनाव नहीं जीत सकती: दिग्विजय

पाकिस्तानी विदेश कार्यालय की प्रवक्ता आइशा फारूकी ने यहां साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग में पत्रकारों से कहा कि पाकिस्तान ने अमरीकी रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी द्वारा जारी किए गए अग्रिम नोटिस को देखा जो भारत को एकीकृत वायु रक्षा प्रणाली बेचे जाने के विदेश विभाग की विदेशी सैन्य बिक्री की मंजूरी को अधिसूचित करता है। उन्होंने कहा कि इस वक्त भारत को ऐसे अत्याधुनिक हथियारों की बिक्री खासकर परेशान करने वाली है, क्योंकि यह पहले से ही अस्थिर क्षेत्र को और अस्थिर कर देगा। अमरीका का यह फैसला दक्षिण एशिया में सामरिक संतुलन को बिगाड़ देगा और इससे पाकिस्तान और क्षेत्र के लिए गंभीर सुरक्षा निहितार्थ होंगे।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.