Sunday, Apr 18, 2021
-->
doses are being purchased from bharat biotech and serum prshnt

जानें भारत बायोटेक और सीरम से कितने डोज की हो रही खरीद, आज निकली पहली खेप

  • Updated on 1/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना (Coronavirus) से जमग में 16 जनवरी से टीकाकरण (Vaccination) अभियान शुरू होने जा रहा है। इसके लिए 12 जनवरी यानी आज से वैक्सीन के वितरण का काम शुरू कर दिया गया है।  सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) से कोविड-19 टीके की छह करोड़ से अधिक खुराक खरीदने का ऑर्डर दिया है। इस ऑर्डर की कुल कीमत करीब 1300 करोड़ रुपए है।

केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि चार एयरलाइन नौ विमानों से मंगलवार को देश के 13 शहरों में टीकों की 56.5 लाख खुराक पहुंचाएंगी। स्पाइजेट का विमान दिल्ली और गोएयर का विमान टीके लकेर चेन्नई के लिए सुबह रवाना हो गया और अन्य विमान बाद में रवाना होंगे।

Crime Branch के हाथ लगी बड़ी कामयाबी! HC की पूर्व जज से 8 करोड़ की ठगी करने वाला ज्योतिषी गिरफ्तार

प्रत्येक टीके पर जीएसटी समेत 210 रुपए की लागत
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार ने सोमवार को भारत बायोटेक को 55 लाख खुराक का ऑर्डर दिया है, जिसकी लागत 162 करोड़ रुपये है। सरकार ने एसआईआई से ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके कोविशील्ड की 1.1 करोड़ खुराक खरीदने का सोमवार को ऑर्डर दिया, जिसमें प्रत्येक टीके पर जीएसटी समेत 210 रुपए की लागत आएगी।  सरकार ने अप्रैल तक 4.5 करोड़ टीके खरीदने की योजना बनाया।

इस पूरे ऑर्डर पर 1100 करोड़ रुपये से अधिक का खर्च आएगा, ऑर्डर के मुताबिक, प्रत्येक 'कोविशील्ड' टीके पर 200 रुपये और 10 रुपये जीएसटी मिलाकर 210 रुपए की लागत आएगी।  सूत्रों ने बताया कि 1.1 करोड़ खुराक की कीमत 231 करोड़ रुपये होगी, जबकि बाकी 4.5 करोड़ खुराक मिलाकर वर्तमान मूल्य के हिसाब से कुल खर्च 1,176 करोड़ आएगा।

केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक से मिलने गोवा जाएंगे राजनाथ सिंह, सड़क हादसे में हुए थे घायल

16 जनवरी से शुरू होगा सामूहिक टीकाकरण
बता दें कि देश 16 जनवरी को कोविड-19 के खिलाफ अपने सामूहिक टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत करेगा। लगभग 3 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन कर्मचारी शॉट प्राप्त करने के लिए पहली पंक्ति में होंगे। डॉ वी के पॉल ने कहा कि अगले तीन महीनों में कम से कम 70 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों को वैक्सीन का प्रबंध किया जाएगा

कोरोना के खिलाफ अभियानः कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खेप पहुंची दिल्ली

300 ट्रकों को किया जा रहा इस्तेमाल
अभी जीपीएस की सुविधा के साथ 300 से ज्यादा ट्रकों को लगाया गया था। मगर जरुरत पढ़ने पर 500 कंटेनर को और बुलाया जाएगा। भारत सरकार ने लक्ष्य रखा है कि अगले कुछ महीनों में 30 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। सरकार अभी कोरोना की वैक्सीन को फ्रंटलाइन वॉरयर्स को लगाई जा रही है। सरकार इसके लिए अभी कोई पैसे नहीं ले रही है। यह मुफ्त में लगाई जा रही है।  

सोमवार को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना वैक्सीन को लेकर की गई तैयारियों  को लेकर बात की। प्रधानमंत्री ने यहां बताया कि किस तरह से राज्यों को वैक्सीन मुहैया कराई जाएगी। और किसे कैसे इसका इस्तेमाल करना होगा। इसके अलावा पीएम ने बताय है कि नागरिकों को वैक्सीन को लेकर फैल रही अफवाहों से बचना होगा। वह कहते हैं कि देश से जल्द कोविड से बाहर लाना है। और यह वैक्सीन की मद्द से ही हो सकता है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.