Tuesday, Sep 22, 2020

Live Updates: Unlock 4- Day 21

Last Updated: Mon Sep 21 2020 09:28 PM

corona virus

Total Cases

5,523,917

Recovered

4,440,775

Deaths

88,345

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA1,208,642
  • ANDHRA PRADESH631,749
  • TAMIL NADU547,337
  • KARNATAKA526,876
  • UTTAR PRADESH358,893
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • NEW DELHI246,711
  • WEST BENGAL225,137
  • ODISHA184,122
  • BIHAR180,788
  • TELANGANA172,608
  • ASSAM156,680
  • KERALA131,027
  • GUJARAT124,767
  • RAJASTHAN116,881
  • HARYANA111,257
  • MADHYA PRADESH103,065
  • PUNJAB97,689
  • CHANDIGARH70,777
  • JHARKHAND69,860
  • JAMMU & KASHMIR62,533
  • CHHATTISGARH52,932
  • UTTARAKHAND27,211
  • GOA26,783
  • TRIPURA21,504
  • PUDUCHERRY18,536
  • HIMACHAL PRADESH9,229
  • MANIPUR7,470
  • NAGALAND4,636
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS3,426
  • MEGHALAYA3,296
  • LADAKH3,177
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2,658
  • SIKKIM1,989
  • DAMAN AND DIU1,381
  • MIZORAM1,333
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
dr ambedkar death anniversary father of indian constitution

भारत के संविधान के जनक डॉ बी आर अंबेडकर,  जाने जीवन से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • Updated on 12/6/2019

नई दिल्ली/अदिति सिंह। भारतीय संविधान के जनक माने जाने वाले डॉक्टर बी आर अंबेडकर (Dr. Ambedkar) उन बहुत कम भारतीय राजनेताओं (Politicians) में से एक हैं जिन्होंने कैबिनेट मिशन (Cabinet Mission) से लेकर मोंसफोर्ड रिफॉर्म (Monsford Reform) तक सभी संवैधानिक (Constitutional) मामलों पर चर्चा में सक्रिय रूप से भाग लिया था।

अयोध्या फैसले व पवार- उद्धव से झटका खा UP की नब्ज टटोलने पहुंचे अमित शाह

महाराष्ट्र के छोटे से गांव में जन्मे डॉक्टर बी आर अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 891 माधवगढ़ (Madhavgarh) में हुआ। आज भीमराव अंबेडकर की 63 पुण्यतिथि है जिसने भारत को सबसे महत्वपूर्ण चीज दी जो कि उसका संविधान है। 6 दिसंबर 1956 को जब वे 65 वर्ष के थे तब उनका निधन हो गया।

बी आर अंबेडकर एक दलित परिवार से थे और उन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और साथ ही समाज द्वारा अछूतों के लिए किए गए भेदभाव के खिलाफ भी आवाज उठाई। 

भूटान कर रहा है अपनी नीति में बदलाव, जानें भारत पर क्या होगा इसका असर

कैसे मिला बाबा साहेब का नाम
बी आर अंबेडकर एक अर्थ-शास्त्री, राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे। बाबासाहेब के नाम से उन्हें लोग इसलिए जानते थे क्योंकि वह एक महान लिब्रेटर (Great liberator) के तौर पर जाने जाते थे। अगर मोटे तौर पर देखा जाए बाबासाहेब मराठी शब्द है जिसका अंग्रेजी में अनुवाद फादर लॉर्ड (Father-Lord) है।

संवैधानिक विशेषज्ञ के रूप में सामने लाए बी आर अंबेडकर को गांधी
सन 1947 29 अगस्त को जो संविधान को ड्राफ्ट (Draft) करने का प्रस्ताव सामने आया तो पंडित जवाहरलाल (Pandit Nehru) नेहरू और सरदार वल्लभभाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel) ने सर गूर जेनिंग्स (Sir Guor Jennings) को संविधान के लिए एक संवैधानिक विशेषज्ञ के रूप में भारत लाने की बात कही तो गांधी जी ने  बी आर अंबेडकर का नाम आगे लाकर कहा विदेशी विशेषज्ञ तलाश क्यों करनी जब भारत में उत्कृष्ट कानून और संवैधानिक विशेषज्ञ बी आर अंबेडकर हैं।

इस तरह व भारत के संविधान  ड्राफ्टिंग कमेटी के चेयरमैन चुने गए।

कौन थे ड्राफ्टिंग कमेटी के 7 मेंबर

1) डॉ. बी.आर. अंबेडकर, अध्यक्ष

2) एन। गोपीलस्वामी

३) अल्लादि कृष्णस्वामी अय्यास

4) के.एम. मुंशी

५) सइजियो मोला सादुल्ला

6) एन। माधव राव और

7) डी.पी. खेतान

दुनिया का सबसे लंबा लिखित संविधान भारत का
डॉक्टर बी आर अंबेडकर ने भारत को दुनिया का सबसे लंबा लिखित संविधान प्राप्त करने में मदद की। वह अपने आदर्शों और विचारों के लिए जाने जाते थे उनका यह विश्वास था कि सामाजिक लोकतंत्र के अभाव में लोगों के लिए मौलिक अधिकारों का बहुत कम अर्थ रह जाता है।

 

comments

.
.
.
.
.