Tuesday, Dec 06, 2022
-->
dr rp nishank said covid-19 will be online due to pm modi discussion on exam pragnt

'परीक्षा पे चर्चा' में हुआ बड़ा बदलाव, इस बार कोरोना के कारण ऑनलाइन होगा कार्यक्रम

  • Updated on 2/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के छात्रों के साथ वार्षिक संवाद कार्यक्रम 'परीक्षा पे चर्चा' का आयोजन कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के मद्देनजर इस साल ऑनलाइन किया जाएगा। हर बार की तरह इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस साल भी बोर्ड की परीक्षा में बैठने जा रहे छात्रों से 'परीक्षा पर चर्चा' करेंगे। 

CBSE की परीक्षा 4 मई से होगी शुरु, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने डेटशीट जारी की

पीएम मोदी करेंगे चर्चा
पीएम मोदी बोर्ड की परीक्षा देने जा रहे परीक्षार्थियों से बातचीत करके उनका हौसला बढ़ाएंगे। इस साल कोरोना के कारण सही से कक्षाएं भी नही हो पाई इसलिए इस बार ये परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम इस साल ऑनलाइन होगा। इतना ही नहीं परीक्षा की टेंशन और दबाव से मुक्त होने के टिप्स भी शेयर करेंगे।

टूलकिट मामले में बड़ा खुलासा, निकिता जैकब के मोबाइल और लैपटॉप से मिले ये चौंकाने वाले सुबूत

'परीक्षा पे चर्चा' को लेकर निशंक ने किया ट्वीट
शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pokhriyal Nishank) ने गुरुवार को इस आशय की जानकारी देते हुए बताया कि नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के साथ यह चर्चा उनकी परीक्षाएं शुरू होने से पहले मार्च में की जाएगी। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, 'मुझे यह सूचना साझा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि सभी छात्रों को जिस चर्चा का इंतजार था, वह अब होने वाली है। 'परीक्षा पे चर्चा 2021' में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिल कर मुस्कुराते हुए अपनी परीक्षाओं की बाधा को पार करने के लिए तैयार हो जाएं।'

आत्मनिर्भर भारत को लेकर NTLF सम्मेलन में बोले PM मोदी- डिजिटल ट्रांजेक्शन से घटा कालाधन

प्रतियोगिता के जरिए होगा छात्रों का चयन
उन्होंने लिखा है, 'कोविड-19 महामारी के कारण इस साल चर्चा ऑनलाइन होगी।' चर्चा के लिए पंजीकरण गुरुवार को शुरू होगा और 14 मार्च को समाप्त होगा। चर्चा के दौरान सवाल पूछने के लिए प्रतियोगिता के जरिए छात्रों का चयन होगा। प्रधानमंत्री के साथ स्कूली छात्रों की 'परीक्षा पे चर्चा 1.0' का आयोजन 16 फरवरी, 2018 को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में किया गया था।

IPU Virtual VC Meet में बोले मनीष सिसोदिया - संपूर्ण शिक्षा प्रणाली समय की मांग

9वीं-11वीं कक्षा की मार्च तक होगी पूरी
वहीं केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 9वीं-11वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाओं और नए अकादमिक सत्र की शुरुआत के लिए गुरुवार को बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलों के प्रिंसिपल-एचओएस को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। बोर्ड परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि स्कूल कोरोना महामारी के लिए जारी गाइडलाइंस का पालन करते हुए वार्षिक परीक्षाएं कराकर अकादमिक सत्र 2021-22 की एक अप्रैल से शुरुआत करें।

परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि अब स्कूलों को खुद को छात्रों के फेस-टू-फेस इंटरेक्शन के लिए तैयार रखना होगा। इससे छात्रों को प्रैक्टिकल व वार्षिक परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। वह स्कूल जाकर अपनी लिखने की क्षमता की भी जांच कर सकेंगे। अगर छात्रों को कोई समस्या है तो उस पर भी निदान किया जा सकेगा।

UPSC के लिए बड़ी राहत! अंतिम प्रयास के अभ्यर्थियों को एक मौका और मिलेगा

10वीं-12वीं की प्रैक्टिकल परीक्षाएं 1 मार्च से 11 जून के बीच होंगी पूरी 
सीबीएसई ने प्रैक्टिकल परीक्षाओं के लिए वीरवार को शेड्यूल जारी कर दिया है। जिसके मुताबिक स्कूलों को 10वीं-12वीं कक्षा की प्रैक्टिकल परीक्षाएं 1 मार्च से 11 जून के बीच पूरी करने को कहा गया है। 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षार्थियों के प्रैक्टिकल के दौरान स्कूलों को कोरोना नियमों का पालन करना होगा। जिसमें एक बैच में 25 छात्रों को दो समूहों में विभाजित किया जाएगा। ताकि छात्रों के बीच दूरी का पालन कराया जा सके। इस दौरान परीक्षार्थियों को मास्क पहनकर आना होगा।

AIIMS डायरेक्टर ने लगवाया कोविड वैक्सीन का दूसरा डोज, लोगों की दी ये सलाह

देश में कोरोना की स्थिति
देश में कोरोना वायरस के 12,881 नए मामले सामने आने के साथ ही गुरुवार को संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,09,50,201 हो गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,06,56,845 पर पहुंच गई। मंत्रालय के सुबह आठ बजे के आंकड़ों के अनुसार, एक दिन के भीतर संक्रमण से 101 लोगों की मौत होने के बाद, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 1,56,014 पर पहुंच गई।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.