Monday, Nov 28, 2022
-->
du-law-faculty-students strike-continues-to-demand-postponement-of-exams

परीक्षा स्थगित करने की मांग को लेकर डीयू विधि संकाय के छात्रों की हड़ताल जारी 

  • Updated on 8/7/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विश्वविद्यालय के विधि संकाय के छात्रों के एक वर्ग की भूख हड़ताल रविवार को दूसरे दिन में प्रवेश कर गई। छात्रों ने कहा कि परीक्षा स्थगित करने की उनकी मांग पर विभाग या विश्वविद्यालय की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। छात्रों ने दावा किया कि संकाय में 50 से अधिक छात्र भूख हड़ताल पर हैं। छात्रों ने शनिवार को अपनी परीक्षा स्थगित करने की मांग करते हुए भूख हड़ताल शुरू की थी। छात्रों का कहना है कि उनका पाठ्यक्रम पूरा नहीं हुआ है।     विधि संकाय के दूसरे सेमेस्टर के छात्र शक्ति सिंह ने कहा, 'आज भूख हड़ताल का दूसरा दिन है। कोई अधिकारी नहीं आया। हमें अधिकारियों से कोई सूचना नहीं मिली है। लगभग 50 छात्र भूख हड़ताल पर हैं।’’   

संसद निष्क्रिय हो गई है; लोकतंत्र ‘सांस लेने के लिए संघर्ष’ कर रहा: चिदंबरम 

 दूसरे, चौथे और छठे सेमेस्टर के प्रदर्शनकारी छात्रों ने भी दो पेपर के बीच पर्याप्त अंतर सुनिश्चित करने के लिए परीक्षा की तिथि में बदलाव करने की मांग की। कैंपस लॉ सेंटर (सीएलसी) और लॉ सेंटर एक और दो के छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि उनका पाठ्यक्रम पूरा नहीं हुआ है और ऑनलाइन कक्षाएं अभी भी चल रही हैं, लेकिन परीक्षाएं 10 अगस्त से निर्धारित हैं।   

गुजरात में केजरीवाल ने कीं आदिवासियों के लिए कई घोषणाएं 

विधि संकाय के छात्र स्वप्निल ने कहा, ‘‘हम अपनी मांगें पूरी होने तक भूख हड़ताल जारी रखेंगे। कुछ छात्रों का रक्तचाप कम हो गया है, लेकिन जब तक प्रशासन परीक्षा स्थगित नहीं करता, हम हड़ताल खत्म नहीं करेंगे।’’   कई छात्र धरने पर बैठ गए और तख्तियां लिए हुए थे, जिन पर लिखा था: ‘‘हमारे करियर के साथ मत खेलो’’ और ‘‘हम इंसान हैं, मशीन नहीं।’’  इस बीच, डीन ऑफ एग्जामिनेशन डी एस रावत ने कहा है कि शैक्षणिक कैलेंडर सेमेस्टर की शुरुआत से पहले जारी किया गया था और इसमें परीक्षा की तारीख का उल्लेख किया गया था।

अगले CJI की नियुक्ति पर रीजीजू ने बोले- उम्मीद है सब कुछ सहजता से हो सम्पन्न होगा

उन्होंने कहा, ‘‘अकादमिक कैलेंडर विश्वविद्यालय प्रदान करता है और विभाग तदनुसार डेटशीट तैयार करता है। स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की डेटशीट विभाग द्वारा तय की जाती है। विभाग की भूमिका यह जांचने की है कि क्या उन्होंने रजिस्ट्रार द्वारा जारी शैक्षणिक कार्यक्रम का पालन किया है।’’   

BCCI के आचरण अधिकारी ने नीता अंबानी से कहा, ‘हितों के टकराव’ के आरोपों पर जवाब दें

comments

.
.
.
.
.