Tuesday, Jun 18, 2019

डीयू दाखिला प्रक्रिया में देरी से अभिभावक और छात्र दोनों परेशान

  • Updated on 5/27/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में इस बार शैक्षणिक सत्र 2019-20 में दाखिले की प्रक्रिया अप्रैल के मध्य में ही शुरू की जाएगी। यह वह दावा है जो डीयू प्रशासन ने किया था, मगर हो इसका उल्टा रहा है। अप्रैल के बाद अब मई का भी अंत होने को है और दाखिला प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। इस सत्र में दाखिला प्रक्रिया में पिछले साल के मुकाबले 11 से 12 दिन की देरी पहले ही हो चुकी है। वह भी बत जब हाईकोर्ट के आदेश के बाद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 12वीं कक्षा का परिणाम रिकॉर्ड समय में जारी किया था। इसके बाद भी डीयू अपनी दाखिला प्रक्रिया समय से शुरू नहीं कर पाया है। इसको लेकर अभिभावकों और छात्रोंं मे परेशानी और बेचैनी बनी हुई है। 

वेस्ट विनोद नगर में रहने वाले में रहने वाले नरेंद्र कुमार का कहना है कि उनकी बेटी ने इसी साल 12वीं पास की है। उसकी इच्छा है कि वह डीयू में लैंग्वेज में दाखिला लें मगर विश्वविद्यालय की दाखिला प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं होने से वह परेशान है। कुमार ने बताया कि बेटी को परेशान देख हम भी परेशान हैं। डीयू से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि दाखिला प्रक्रिया में उपयोग होने वाले सॉफ्टवेयर के तैयार नहीं होने से प्रवेश प्रक्रिया में देरी हो रही है।

Related image

वहीं, प्रवेश प्रक्रिया से जुड़े निर्णयों पर अंतिम मोहर नहीं लगाना भी देरी का बड़ा कारण है। दाखिला प्रक्रिया शुरू होने में हो रही देरी को लेकर स्टेंडिंग कमेटी सदस्य और विद्वत परिषद (एसी) के सदस्य प्रोफेसर रसाल सिंह ने प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने में हो रही देरी के विषय में बताया कि निश्चित रूप से पिछले सालों की तुलना में इस बार प्रवेश प्रकिया शुरू होने में देरी हुई है। इसका प्रमुख कारण पिछले सालों में प्रवेश प्रक्रिया में आने वाली समस्याओं और उसकी कमियों को दूर करने की कोशिश है। संबंधित सॉफ्टवेयर की तैयारी भी एक वजह है। प्रवेश प्रक्रिया को समयबद्ध होने के साथ-साथ सुगम, सरल और सुविधाजनक होना चाहिए। इसलिए परीक्षा शाखा की तरह अलग से प्रवेश शाखा होनी चाहिए जो सालभर इस दिशा में काम करे।

20 जुलाई से शुरू होता है नया सत्र 
यहां यह भी ध्यान देने वाली बात है कि डीयू में हर साल नए सत्र शैक्षणिक सत्र की शुरूआत 20 जुलाई से होती हैै। ऐसे में डीयू को सत्र समय से शुरू करने के लिए दाखिला प्रक्रिया के समय में कुछ कटौती करनी पड़ेगी जिससे छात्रों को प्रवेश के लिए आवेदन करने का समय कम मिलने की संभावना है।

पिछले साल सितम्बर तक चली थी प्रवेश प्रक्रिया 
2018 में 15 मई से शुरू हुई दाखिला प्रक्रिया सितंबर तक जारी रही थी। डीयू से संबद्ध एक कॉलेज के प्राचार्य ने बताया कि इस साल हो सकता है कि प्रवेश प्रक्रिया लंबी खींचे। इससे विद्यार्थियों को पहले सेमेस्टर की पढ़ाई पूरी करने में समस्या का सामना करना पड़ेगा। 

पिछले सत्र में आई थी 10 कटऑफ 
दाखिला प्रक्रिया शुरू होने से पहले हर साल डीयू प्रशासन एक दावा करता है, इस बार कटऑफ व्यवहारिक रहेगी और ज्यादा ऊंची नहीं जाएगी। दूसरा यह कि इस बार कम से कम कटऑफ में दाखिला प्रक्रिया पूरी करने की कोशिश की जाएगी। हालांकि यह दावे हर बार दावे ही रह जाते है और होता उल्टा है। कटऑफ भी ऊंची रहती है और निकलती थी पांच से ज्यादा है। पिछले साल की बात करें तो पिछले साल 10 कटऑफ डीयू प्रशासन द्वारा निकाली गई थी। अब इस बार कितनी निकालनी पड़ती है यह दाखिला प्रक्रिया शुरू होने के बाद ही पता चल पाएगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.