Monday, Mar 30, 2020
due-to-coronvirus-people-not-eating-non-veg

Coronavius: चिकन-मटन को छोड़ लोग खा रहे ‘कटहल’

  • Updated on 3/12/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलने को लेकर भारत में कई तरह की अफवाहें चल रही हैं। इसी में से एक अफवाह यह भी है कि चिकन और मटन खाने से कोरोना वायरस हो सकता है। इसके बाद से ही लोग चिकन (Chicken) , मटन और मछली (Fish) खाने से डर रहे हैं। इस वजह से मटन-चिकन की कीमत में भारी गिरावट देखी जा रही है। इस गिरावट के चलते पोल्ट्री इंडस्ट्री को भारी नुक्सान झेलना पड़ रहा है।

दरियाई नारियल के पेड़ पर 126 साल बाद आए फल

पोल्ट्री इंडस्ट्री को 1,500-2,000 करोड़ रुपए का नुक्सान
पोल्ट्री इंडस्ट्री (Poultry Industry) को रोजाना 1,500-2,000 करोड़ रुपए का नुक्सान हो रहा है। चिकन की मांग में गिरावट के कारण फार्म गेट स्तर पर पोल्ट्री बर्ड की कीमतें 10-50 रुपए प्रति किलोग्राम तक गिर गई हैं। चिकन की होलसेल कीमत में करीब 70 प्रतिशत की गिरावट आई है। नॉन-वैज के शौकीन लोग चिकन और मटन की जगह कटहल और मशरूम को खाने के नए विकल्प के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं।

दिल्ली: यहां देखने को मिलते हैं चांद-मंगल ग्रह के 'अद्भुत' पत्थर और डायनासोर के अंडे

मार्कीट से कटहल और मशरूम गायब \
नॉन-वैजीटेरियन (Non-vegetarian) खाने वालों के मुताबिक कटहल और मशरूम से चिकन और मटन खाने जैसी फील आती है। शायद यही वजह है कि मार्कीट से कटहल और मशरूम गायब हो रहे हैं। आलम यह है कि कटहल (Jackfruit) दोगुने दाम पर बिक रहा है। सामान्य तौर पर 50 रुपए में मिलने वाला कटहल इन दिनों 120 रुपए किलो के हिसाब से मिल रहा है। वहीं दूसरी ओर 150 से 200 रुपए में मिलने वाला चिकन 80 रुपए प्रति किलो के हिसाब से मिल रहा है। 

इस ISLAND पर है सिर्फ महिलाओं का एक छत्र राज, पुरुषों की है NO ENTRY

बता दें कि डॉक्टर्स चिकन और मटन खाने से कोरोना वायरस फैलने की खबरों को खारिज कर रहे हैं। हाल ही में पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन ने उत्तर प्रदेश के कई शहरों में चिकन मेले का आयोजन किया था ताकि इस गलतफहमी दूर हो सके कि चिकन-मटन से वायरस फैल रहा है।

कोरोना वायरस के कारण Honeymoon से भाग रहे है कपल्स!

क्या कहना है एफएसएसएआई का
भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (Fssai) के सी.ई.ओ. ने कहा कि एक वैज्ञानिक होने के नाते मैं बता सकता हूं कि चिकन, मटन और सी-फूड खाने से कोरोना का संक्रमण नहीं फैल सकता। इसके बारे में लोगों की गलत धारणा है। यह वैज्ञानिक रूप से सिद्ध नहीं है।

comments

.
.
.
.
.