'तनाव' की वजह से 30 साल के युवाओं में बढ़ रही हैं दिल की बीमारियां...

  • Updated on 11/26/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। तनाव के कारण आज कल का युवा तेजी से कई सारी बीमारियों का शिकार हो रहा है। कई शोध बताते हैं कि युवा पीढ़ीं काम के दवाब और कई दूसरों कारणों से तनाव का शिकार हो रही हैं और इसी के साथ दिल की बीमारियां भी तेजी से घेर रही हैं। 

पेट की समस्या लगातार कर रही है परेशान तो तनाव भी हो सकती है वजह

बदलती लाइफस्टाइल से जहां एक और युवा तेजी से नई ऊचांइयां छूने के लिए भाग रहा है वहीं इसके चलते काम और दबाव, रिश्तों के लिए कम समय दे पाना, परिवार की सभी जरुरतों को पूरा करने में सफल ना होना, करियर के लिए जी तोड़ मेहनत के चलते कब तनाव के घेरे में आ जाता है कहना मुश्किल है। तनाव किसी भी कीमत पर सेहत पर उल्टा असर डालता है। 

 दूध पीने से लीवर और किडनी को हो सकता है नुकसान! हुआ ये खुलासा

वहीं तनाव की स्थिति किसी को भी तोड़ सकती है। तनाव ना केवल मानसिक बल्कि शारीरिक हानी भी करता है। तनाव की वजह से मानसिक कमजोरी, नींद ना आना और सुस्ती जैसी कितनी ही अगल तकलीफों से दो चार होना पड़ता है। लेकिन शोध बातते हैं कि अगर आप लंबे समय से तनाव से जूझ रहे हैं तो आपकी पाचन शक्ति पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है। अब एक शोध सामने आया है जिसमें ये कहा जा रहा है कि युवा जो लंबे समय से तनाव से जूझ रहा है दिल की गंभीर बीमारियों की चपेट में तेजी से आ रहा है। 

फ्रिज में रखी इन चीजों को खाने से आपका स्वास्थ हो सकता है खराब

आज 32 साल के युवा भी सीने में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, थकान, घबराहट और कमजोरी से दो चार हो रहे हैं। भारत की स्थिति इस मामलें में गंभीर है। भारत में पिछले तीन दशक में कोरोनरी आर्टरी की बीमारियों दो गुना तेजी से बढ़ी हैं। युवाओं में पिछले तीन दशक में डायबिटीज मेलिटस, हाई बीपी, डाइस्लिपीडेमिया, मोटापे, ग्लूकोज टॉलरेंस, अधिक ट्रिगलीसेराइड्स जैसी समस्याओं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.