Monday, May 10, 2021
-->
durga-puja-gift-to-kolkata-first-underwater-metro-line-of-india-started-in-west-bengal-prsgnt

कोलकाता को सरकार ने दिया दुर्गापूजा का तोहफा, देश की पहली अंडरवाटर Metro Line हुई शुरू....

  • Updated on 10/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दुर्गा पूजा के खास मौके पर केंद्र सरकार ने कोलकाता (Kolkata) में विश्व-स्तटरीय सुविधाओं वाला फूलबागान मेट्रो स्टेशन (Phoolbagan Metro Station) आम लोगों के खोल दिया है। इस मेट्रो स्टेशन का उद्धघाटन अक्टूरबर की शुरुआत में ही केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कर दिया था। 

कोलकाता ईस्ट -वेस्ट  कॉरिडोर (Kolkata East-West Corridor) के फूलबागान मेट्रो स्टेशन का उद्घाटन होने के बाद इसे आम जनता के लिए खोला नहीं गया था लेकिन अब दुर्गा पूजा पर केंद्र ने इसे जनता को समर्पित कर दिया। 

रामविलास पासवान के निधन के बाद पीयूष गोयल बने उपभोक्ता मामलों के मंत्री, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

जुलाई में आई थी पहली तस्वीर 
फूलबागान मेट्रो स्टेोशन कॉरिडोर की लंबाई 16.6 किमी है। ये स्टेशन हुगली नदी के पश्चिमी किनारे पर हावड़ा (Howrah) को पूर्वी तट पर साल्ट 6 लेक सिटी (Salt Lake City) से जोड़ेगा। इस बारे में पीयूष गोयल ने 19 जुलाई 2020 में ट्वीट कर इस बारे जानकारी भी दी थी हालांकि उसका उद्धघाटन अक्टूबर में किया गया है। 

पहला अंडरग्राउंड स्‍टेशन
इस मेट्रो स्टेशन की खास बात यह है कि ये पहला अंडरग्राउंड स्‍टेशन है। यह मेट्रो ट्रेन जमीन, एलिवेटेड ट्रैक्‍स और हुगली नदी में अंडरवाटर टनल से होकर गुजरेगी। बताया जाता है कि सितंबर 1955 में शुरू हुआ एमजी रोड मेट्रो स्‍टेशन आखिरी अंडरग्राउंड स्‍टेशन था, जो कोलकाता मेट्रो में नॉर्थ-साउथ मेन लाइन पर था। इसके अलावा जितने भी मेट्रो स्टेशन रहें हैं वो या तो जमीन (Ground Level) पर रहे या एलिवेटेड (Elevated) पर हैं। 

नीतीश कुमार की सभा में लगा चोर-चोर का नारा, तेजस्वी ने कहा- सबसे अलोकप्रिय मुख्यमंत्री

कोलकाता के लिए तोहफा 
इस मेट्रो स्टेशन को आम जनता के लिए खोलने पर रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि फूलबागान स्‍टेशन पर मेट्रो सेवाओं की शुरुआत रेलवे की ओर से कोलकाता के लोगों के लिए दुर्गापूजा का तोहफा है। 

शिवराज सरकार की महिला मंत्री के बिगड़े बोल, कहा- ‘नफरत फैला रहे मदरसे, बंद हों’, मचा बवाल...

8,757 करोड़ रुपये की लागत
केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस कॉरिडोर के लिए कैबिनेट ने संशोधित लागत को मंजूरी दे दी थी। इसकी लागत अनुमान के मुताबिक 8,757 करोड़ रुपये की आएगी। हालांकि इसे पूरा होने में अभी कुछ समय लगेगा। उम्मीद है कि ये परियोजना दिसंबर 2021 तक तैयार हो जाएगी। 

BJP MLA का सनसनीखेज दावा- येदियुरप्पा से नाखुश हैं हाईकमान, नहीं रहने देना चाहते CM पद पर…

बताया जा रहा है कि इस मेट्रो कॉरिडोर पर सफर करने वालों को अंडरवाटर टनल से होकर गुजरने का आनंद मिलेगा जो लगभग 1 मिनट का होगा। जबकि इसी रास्‍ते की फेरी पर 20 मिनट लग जाते हैं। जबकि हावड़ा ब्रिज से होकर जाने पर दूरी को तय करने में करीब 1 घंटा तक लग जाता है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.