Tuesday, Nov 30, 2021
-->
durga-puja-violence-29-houses-of-hindus-burnt-in-bangladesh-mamata-banerjee-alerts-rkdsnt

दुर्गापूजा हिंसा : बांग्लादेश में हिंदुओं के 29 घर जलाए गए, ममता बनर्जी ने किया अलर्ट

  • Updated on 10/18/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दुर्गापूजा त्योहार के दौरान पिछले सप्ताह मंदिर में तोडफ़ोड़ के विरोध में अल्पसंख्यक समुदाय के प्रदर्शन के बीच बांग्लादेश में हमलावरों के एक समूह ने हिंदुओं के करीब 29 घरों में आग लगा दी। यह जानकारी सोमवार को मीडिया की खबरों में दी गई। ‘बीडीन्यूज24 डॉट कॉम’ ने खबर दी कि आगजनी रविवार की देर रात को रंगपुर जिले के पीरगंज के एक गांव में हुई, जो यहां से करीब 255 किलोमीटर दूर है। खबर में जिले के पुलिस अधीक्षक मोहम्मद कमरूजम्मां के हवाले से बताया गया कि एक फेसबुक पोस्ट से अफवाह फैली कि गांव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने ‘धर्म का अपमान’ किया है, जिसके बाद वहां पुलिस रवाना हुई। खबर में बताया गया कि पुलिस व्यक्ति के घर के बाहर तैनात रही वहीं हमलावरों ने दूसरे घरों में आग लगा दी। 

किसान आंदोलन को लेकर राज्यपाल मलिक ने चेतावनी के साथ मोदी सरकार को सुनाई खरी-खरी

अग्निशमन नियंत्रण कक्ष ने बताया कि पीरोगंज माझीपारा इलाके में 29 घरों, दो रसोईघरों, दो खलिहानों और सूखी घास के 20 ढेर में आग लगाई गई थी। खबर में बताया गया कि आग लगने के कारणों की पहचान ‘अनियंत्रित भीड़’ के रूप में हुई है। खबर में बताया गया कि अग्निशमन सेवा को रात पौने नौ बजे आग लगने की सूचना मिली और इसे सुबह चार बजकर 10 मिनट पर बुझा दिया गया। किसी के हताहत होने की फिलहाल कोई खबर नहीं है। कोमिला इलाके में दुर्गापूजा के एक पंडाल में कथित ईशनिंदा के बाद फैले सांप्रदायिक तनाव के कारण आग लगाने की घटना हुई है। 

केजरीवाल सरकार ने ‘रोजगार बाजार 2.0’ का पोर्टल तैयार करने के लिए जारी किया टेंडर

पिछले हफ्ते कोमिला इलाके में हुई घटना के कारण हिंदू मंदिरों पर हमले किए गए और कोमिला, चांदपुर, चटग्राम, कॉक्स बाजार, बंदरबन, मौलवीबाजार, गाजीपुर, फेनी सहित कई जिलों में पुलिस और हमलावरों के बीच संघर्ष हुए। खबर में बताया गया कि हमलों एवं सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक नफरत फैलाने को लेकर कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बांग्लादेश हिंदू बुद्धिस्ट क्रिश्चियन यूनिटी काउंसिल ने आरोप लगाया है कि चांदपुर एवं नोआखाली में हमलों में कम से कम चार हिंदू श्रद्धालुओं की मौत हो गई। इस बीच अपराध निरोधक बल रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) ने फेनी में हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय की दुकानों एवं मंदिरों में तोडफ़ोड़ को लेकर दो और लोगों को गिरफ्तार किया है।     

शिवसेना ने NCB की कार्यशैली की न्यायिक जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

ममता सरकार ने शरारती तत्वों के खिलाफ सतर्क रहने को कहा 
पश्चिम बंगाल सरकार ने अपने जिला प्रशासन, खासकर सीमावर्ती बांग्लादेश से लगे जिलों के प्रशासन से सोशल मीडिया के दुरुपयोग और पड़ोसी देश में दुर्गा पूजा के दौरान हालिया हमलों से संबंधित फर्जी खबरों के प्रसार के खिलाफ सतर्क रहने और उनसे कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कदम उठाने को कहा है। एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मूर्ति विसर्जन समारोहों और फातिहा-द्वाज-दहम के बीच बंगाल में कहीं भी अशांति फैलाने के किसी भी प्रयास से निपटने के लिए सभी राज्य एजेंसियों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा, ‘‘ सरकार ने जिला प्रशासन, खासकर बांग्लादेश से लगे सीमावर्ती जिलों के प्रशासन से, पड़ोसी देश में हिंसा और तोडफ़ोड़ से जुड़ी फर्जी खबरों के प्रसार के खिलाफ सावधानी बरतने को कहा है। राज्य की सभी एजेंसियों से सतर्क रहने और तनाव उत्पन्न करने की हर साजिश नाकाम करने को कहा गया है।’’ 

दिल्ली दंगा : निर्देशों को नजरअंदाज करने से नाराज कोर्ट ने दिल्ली पुलिस पर लगाया जुर्माना 

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (खुफिया शाखा) की तरफ से भी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को इसी तरह की चेतावनी जारी की गई है। उन्होंने अपने संदेश में कहा, ‘‘13 अक्टूबर 2021 से सोशल मीडिया मंचों पर बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़-फोड़ की पोस्ट की बाढ़ आ गई है। इन मुद्दों के मद्देनजर भारत-बांग्लादेश सीमा से लगे जिले बेहद संवेदनशील हो गए हैं और भारत के हिंदू पुरातनपंथी संगठनों के नेता सक्रिय हो गए हैं।’’ एडीजीपी ने अपने संदेश में कहा कि आपसे अनुरोध है कि आप अपने नियंत्रण में आने वाले अधिकारियों और लोगों को जागरूक करें और किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए कड़ी निगरानी रखें।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को हत्या मामले में उम्रकैद की सजा

comments

.
.
.
.
.