Friday, Apr 10, 2020
during lockdown no entry in jnu campus

लॉकडाउन में JNU कैंपस के अंदर जाने पर रोक, प्रशासन ने जारी किए निर्देश

  • Updated on 3/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन (Lockdwon) की घोषणा के बाद जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) ने भी सभी स्कूलों व भवनों को इस अवधि तक बन्द रखने की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही जेएनयू प्रशासन ने परिसर में प्रवेश पर रोक लगा दी है। जिसके पालन के लिए कुलपति ने सभी से सहयोग की अपील की हैं।

देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा के बाद बुधवार को कुलपति प्रो एम जगदीश कुमार ने छात्र-समुदाय के नाम अपील जारी की हैं। जिसमें कुलपति ने कहा है कि इस अवधि में छात्रों को हरसम्भव ऑनलाइन शैक्षणिक सहयोग उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किए गए हैं।

लॉकडाउन: दिल्ली में 24 घंटे खुली रहेंगी दुकानें, CM ने की भीड़ न लगाने की अपील

घर का एक सदस्य ही निकले घर के बाहर
कुलपति ने कहा है कि प्रशासन मौजूदा स्थिति और जरूरी सेवा की आपूर्ति की निगरानी कर रहा है। कुलपति ने सभी को कोरोना वायरस को लेकर जारी एडवाइजरी का पालन करने को कहा है। इसके साथ ही कुलपति ने पूरे विवि समुदाय से अपील करते हुए कहा है कि सभी अपने घरों में बने रहें, वहीं में घूमने से परहेज करते हुए परिवार का एक ही सदस्य परिसर स्थित बाज़ार में जरुरी काम के लिए निकले। इसके साथ ही कुलपति ने कहा है कि परिसर स्थित स्वास्थ्य केंद्र खुला हुआ है,  जिसमें आपातकालीन स्थिति में जाया जाए।

क्या है लॉकडाउन?
केंद्र सरकार या राज्य सरकार देश के किसी शहर या संबंधित इलाके को आपात स्थिति के दौरान लॉकडाउन कर सकती है। लॉकडाउन की स्थिति में आप अपने जरूरी काम करने घर से बाहर जा सकते हैं।    

लॉकडाउन के समय मार्केट की स्थिति
किसी शहर में लॉकडाउन होने पर वहां के अस्पताल, डेरी, राशन की दुकान व दवा की दुकानों साथ ही एटीम व पेट्रोल पंप खुली रहती हैं।

कोरोना संक्रमित डॉक्टर के संपर्क में आए 800 लोग, सभी को किया क्वारंटाइन

क्या लॉकडाउन होने पर बाहर घूम सकते हैं?
ये आपके विवेक पर निर्भर करता है। इस दौरान आपको बाहर जाने से रोका नहीं जाता है, लेकिन समझने वाली बात ये है कि लॉकडाउन लगाया ही इसलिए जाता है ताकि आप किसी अन्य व्यक्ति के संपर्क में न आ सकें। ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि संक्रमण के बढ़ते क्रम को तोड़ा जा सके। इसलिए जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें अन्यथा की स्थिति में ना ही निकलें। 

क्या सभी कर्मचारियों को इस दौरान छुट्टी दे दी जाती है?
शहर में लॉकडाउन की स्थिति होने पर डॉक्टर, पुलिस, मीडियाकर्मियों, सफाई कर्मियों सहित उन सभी लोगों को काम पर जाना होता है जिनके काम आम लोगों के हितों से जुड़े होते हैं। अन्य सभी सरकारी और निजी कंपनियां बंद रहती हैं। 

कब और कहां हुआ पहला लॉकडाउन?
सबसे पहले लॉकडाउन अमेरिका में ने 9/11 आतंकी हमले के दौरान हुआ था। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

क्या है कोरोना वायरस? जानें, बीमारी के कारण, लक्षण व समाधान

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास 

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

मिल गया Coronavirus का इलाज! जल्द ठीक हो सकेंगे सभी संक्रमित 

लॉक डाऊन है तो फिक्र क्या, बैंक कराएंगे आपके पैसे की होम डिलीवरी

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.