Wednesday, Oct 16, 2019
ec-rejects-opposition-leaders-demand-for-matching-vvpat-papers-before-counting

विपक्ष को EC से झटका, EVM के सभी वोटों से VVPAT मिलान की मांग खारिज

  • Updated on 5/22/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले ईवीएम एवं वीवीपीएटी के मुद्दे पर कांग्रेस, सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस सहित 22 प्रमुख विपक्षी दलों को चुनाव आयोग ने बड़ा झटका देते हुए ईवीएम के सभी वोटों से वीवीपैट मिलान की मांग खारिज कर दिया है। विपक्ष ने मंगलवार को चुनाव आयोग का रुख किया और उससे यह आग्रह किया कि मतगणना से पहले चुनिंदा मतदान केंद्रों पर वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान किया जाए।

सीओए विनोद राय ने किया BCCI के अहम चुनाव का ऐलान

चुनाव आयोग ने असहमति के मत को लेकर खारिज की लवासा की मांग

विपक्षी दलों ने यह भी कहा कि यदि किसी एक मतदान केंद्र पर भी वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान सही नहीं पाया जाता तो संबंधित विधानसभा क्षेत्र में सभी वीवीपीएटी र्पिचयों की गिनती की जाए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने संवाददाताओं कहा, ‘‘हमनें मांग की है कि वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान पहले किया जाए और फिर मतगणना की जाए। यह हमारी सबसे बड़ी मांग हैं।’’ 

प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा चुनाव प्रचार की तुलना ‘तीर्थयात्रा’ से की

उन्होंने कहा, ‘‘अगर पांच मतदान केंद्रों के वीवीपीएटी पर्चियों की गिनती में गड़बड़ी पाई जाए तो पूरे विधानसभा क्षेत्रों में पर्चियों में गिनती की जाए। यह हमारी दूसरी मांग है।’’ विपक्षी नेताओं ने कई स्थानों पर स्ट्रांगरूम से ईवीएम के कथित स्थानांतरण से जुड़ी शिकायतों पर कार्रवाई की मांग की। 

भाजपा ने ईवीएम पर सवाल उठाने पर विपक्ष को लिया आड़े हाथ 

प्रणब मुखर्जी ने भी वोटरों के फैसले से छेड़छाड़ की खबरों पर जताई चिंता

बसपा के दानिश अली ने कहा, ‘‘स्टांगरूम को लेकर जो शिकायतें थीं वे हमने चुनाव आयोग के समक्ष रखी हैं। दरअसल, उत्तर प्रदेश का प्रशासन मनमानी कर रहा है क्योंकि भाजपा को पता है कि जनता का क्या फैसला दिया है। अब वे हेराफेरी करना चाहते हैं।’’ 

अमरिंदर-सिद्धू मामले में पंजाब कांग्रेस प्रभारी ने राज्य इकाई से मांगी रिपोर्ट

तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करे कि जनादेश के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हो। चुनाव आयोग का रुख करने से पहले विपक्षी नेताओं ने कांस्टीट्यूशन क्लब में बैठक की।

मुलायम, अखिलेश को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI से मिली बड़ी राहत

विपक्षी नेताओं की बैठक में कांग्रेस से अहमद पटेल, अशोक गहलोत, गुलाम नबी आजाद और अभिषेक मनु सिंघवी, माकपा से सीताराम येचुरी, तृणमूल कांग्रेस से डेरेक ओब्रायन, तेदेपा से चंद्रबाबू नायडू, आम आदमी पार्टी से अरविंद केजरीवाल, सपा से रामगोपाल यादव, बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा एवं दानिश अली, द्रमुक से कनिमोई, राजद से मनोज झा, राकांपा से प्रफुल्ल पटेल एवं माजिद मेमन और कई अन्य पार्टियों के नेता शामिल हुए।  
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.