Tuesday, May 17, 2022
-->
economy was devastated before 2014- modi in assocham

CAA पर इशारे-इशारे में बोले PM मोदी- देश हित में झेलना पड़ता है लोगों का गुस्सा

  • Updated on 12/20/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश भर में मचे बवाल के बीच एसोचैम के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश हित के लिए लोगों की नराजगी और गुस्सा भी झेलना पड़ता है।हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर बिल का नाम नहीं लिया। 

कांग्रेस पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पांच-छह साल पहले त्रासदी की ओर बढ़ रही थी भारतीय अर्थव्यवस्था और इसकी जिम्मेदार लोग सिर्फ तमाशा देख रहे था। अपनी सरकार के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने इसे ठीक किया और राजकोषीय स्थिति को नियंत्रित किया। सरकार के लक्ष्य के बारे में उन्होंने कहा- हम भारतीय अर्थव्यवस्था को आधुनिक और औपचारिक बनाना चाहते हैं।

भारत में ऐसी सरकार है जो किसानों, मजदूरों और कॉरपोरेट जगत की बातें सुनती है। हम कर प्रणाली को पारदर्शी, प्रभावी तथा जवाबदेह बनाने के लिये ऐसी व्यवस्था की ओर बढ़ रहे हैं जिसमें आकलन के दौरान करदाताओं और कर अधिकारियों को एक-दूसरे के बारे में पता नहीं चलेगा।     
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.