Thursday, Oct 28, 2021
-->
ed-arrests-onkar-realtors-chairman-md-in-money-laundering-case-rkdsnt

ED ने मनी लांड्रिंग मामले में ओंकार रियल्टर्स के चेयरमैन, MD को किया गिरफ्तार

  • Updated on 1/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई की कंपनी ओंकार रियल्टर्स एंड डेवलपर्स के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (एमडी) को मनी लांड्रिंग (धनशोधन) मामले में गिरफ्तार किया है।  यह मामला यस बैंक में ऋण धोखाधड़ी से जुड़ा है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने कहा कि कंपनी के चेयरमैन कमल किशोर गुप्ता तथा प्रबंध निदेशक बाबूलाल वर्मा को बुधवार को मुंबई में धनशोधन रोधक कानून (पीएमएलए) के तहत गिरफ्तार किया गया है। दोनों को बृहस्पतिवार को मुंबई में पीएमएलए अदालत के समक्ष पेश किए जाने की संभावना है।  

किसान संगठनों ने बजट के दिन संसद मार्च की योजना की रद्द, बनाई आगे की रणनीति

एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि ईडी ने 25 जनवरी को समूह और उसके प्रवर्तकों से जुड़े कम से कम 10 परिसरों में छापेमारी की थी। यह छापेमारी स्लम पुनर्वास प्राधिकरण (एसआरए) योजना के तहत मिली विभिन्न अनुमतियों का दुरुपयोग करने और कथित रूप से यस बैंक के 450 करोड़ रुपये के ऋण को इधर-उधर करने के लिए की गई थी। 

  सिसोदिया मानहानि मामले में मनोज तिवारी को सुप्रीम कोर्ट से मिली बड़ी राहत

कंपनी ने उस समय ईडी की कार्रवाई को एक ‘नियमति पूछताछ’ करार दिया था और कहा था कि यह मामला उसके खिलाफ बंबई उच्च न्यायालय में दायर कुछ याचिकाओं से संबंधित है। कंपनी ने कहा था कि उसके कोई भी पैसा इधर-उधर नहीं किया है और सारा कामकाज कानूनी नियमों और नियमनों के तहत किया है।       समूह ने कहा था कि कुछ लोगों ने याचिका में उसके खिलाफ यस बैंक के कोष को इधर-उधर करने के आरोप लगाए हैं, जो गलत हैं। 

ट्रैक्टर परेड में हिंसा: सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में जांच आयोग बनाने का अनुरोध

यस बैंक के सह-प्रवर्तक राणा कपूर (63) और घोटाले में फंसी दीवान हाउसिंग फाइनेंस लि. (डीएचएफएल) के प्रवर्तक कपिल वधावन और धीरज वधावन को ईडी ने पिछले साल साल गिरफ्तार किया था। फिलहाल ये न्यायिक हिरासत में हैं। कपूर की जमानत याचिका को बंबई उच्च न्यायालय ने सोमवार को खारिज कर दिया था। कपूर को बुधवार को मुंबई में एक नए मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है।

यस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर गिरफ्तार 
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के सह-प्रवर्तक राणा कपूर को ताजा मामले में गिरफ्तार कर लिया है। यह मामला महाराष्ट्र में पीएमसी बैंक में 4,300 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी से जुड़ा है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। कपूर फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं। केंद्रीय जांच एजेंसी ने पिछले साल मार्च में 63 वर्षीय कपूर को वित्तीय अनियमितताएं और यस बैंक द्वारा कई बड़े कर्जदारों को दिये गये कर्ज के बदले उन्हें और उनके परिवार के सदस्यों को मिले रिश्वत मामले में गिरफ्तार किया था।  

माकपा ने कहा- हिंसा से किसानों की मांगों से ध्यान नहीं भटकाया जा सकता

सूत्रों के अनुसार गिरफ्तारी के बाद उन्हें विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उन्हें दूसरे मनी लांङ्क्षड्रग मामले में 30 जनवरी तक ईडी की हिरासत में भेज दिया।  ताजा मामला पीएमसी बैंक में कथित कर्ज धोखाधड़ी से जुड़ा है। ईडी ने पिछले सप्ताह मुंबई और पालघर जिले में वसई-विरार इलाकों में वीवा ग्रुप के परिसरों पर छापे मारे। यह समूह महाराष्ट्र के विधायक और बहुजन विकास अघाड़ी (बीवीए) दल के प्रमुख हितेन्द्र ठाकुर द्वारा प्रर्वितत है। 

किसान ट्रैक्टर परेड में हिंसा : सोशल मीडिया में दीप सिद्धू  को लेकर उठे सवाल

केंद्रीय जांच एजेंसी ने पंजाब और महाराष्ट्र को-अपरेटिव (पीएमसी) बैंक में कथित कर्ज धोखाधड़ी जांच मामले में अक्टूबर, 2019 में मनी लांङ्क्षड्रग का आपराधिक मामला दर्ज किया था। यह मामला हउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्टक्चर लि. (एचडीआईएल), उसके प्रवर्तकों राकेश कुमार वधावन, उनके बेटे सारंग वधावन, बैंक के पूर्व चेयरमैन वारयाम सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस के खिलाफ दर्ज किया गया है। 

ट्रैक्टर परेड हिंसा: घायल पुलिसकर्मी की हालत नाजुक, LNJP अस्पताल के ICU में भर्ती

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.