Wednesday, May 12, 2021
-->
ed-charge-sheet-says-chidambaram-gave-instructions-to-inx-media-to-help-karti-rkdsnt

INX मीडिया को चिदंबरम ने दिया था कार्ति की मदद का निर्देश : ईडी 

  • Updated on 3/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया के पूर्व प्रवर्तकों को अपने पुत्र कार्ति के कारोबार में मदद करने का निर्देश दिया था। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अपने आरोप पत्र में यह कहा है। आरोप पत्र में कहा गया है कि चिदंबरम का यह निर्देश धन शोधन के महत्वपूर्ण कदमों में था। वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने अपने पुत्र के कारोबार के हितों में मदद के लिए यह निर्देश दिया था।  

संसदीय समिति का ग्रामीण क्षेत्रों में RTI कानून के बारे में जागरूकता फैलाने का निर्देश

केंद्रीय जांच एजेंसी ने दावा किया कि 75 वर्षीय कांग्रेस के नेता अपने पुत्र और सांसद कार्ति चिदंबरम के साथ मनी में लॉंन्ड्रिंग पूरी तरह शामिल थे। साथ ही वह उन कंपनियों के कामों में भी शामिल थे जिनका स्वामित्व उनके पुत्र के पास था। इनमें से कुछ कंपनियों को भी इस मामले में आरोपी बनाया गया है। ईडी ने दावा किया उसने डिजिटल उपकरणों से ऐसे ई-मेल पकड़े हैं जिनसे पता चलता है कि कार्ति पूर्व में अपने स्वामित्व वाली कंपनी एडवांटेड स्ट्रैटिजिक कंसङ्क्षल्टग् लि. (एएससीपीएल) के संबंधित मामलों में अपने पिता से विचार-विमर्श करते थे। 

राज्यसभा ने NCT संशोधन विधेयक को दी मंजूरी, AAP का भारी विरोध

धन शोधन रोधक कानून (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत ऐसे मामलों पर गौर करने वाली विशेष अदालत ने बुधवार को ईडी के आरोप पत्र पर चिदंबरम और कार्ति सहित सभी 10 आरोपियों को समन जारी कर सात अप्रैल को पेश होने को कहा है। अदालत ने कहा कि उसके पास चिदंबरम, उनके पुत्र, कार्ति के चार्टर्ड अकाउंटेंट एस भास्कररमन, आईएनएक्स मीडिया के पूर्व मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) पीटर मुखर्जी और आईएनएक्स मीडिया और आईएनएक्स न्यूज सहित छह कंपनियों के खिलाफ मामला चलाने के लिए पर्याप्त प्रमाण हैं। 

ठाकरे सरकार के खिलाफ केंद्र की मदद करने वाले अधिकारियों को चेताया

पी चिदंबरम ने इन सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि आरोपियों को समन एक नियमित प्रक्रिया है। ईडी के आरोप पत्र में दावा किया गया है कि ई-मेल आदि से पता चलता है कि चिदंबरम अपने पुत्र कार्ति की कंपनियों के कामकाज में शामिल थे। इसके अलावा वह कार्ति के गैर-कानूनी मामलों को देखने वाले भास्कररमन के भी संपर्क में थे। भास्कररमन और पी चिदंबरम को ईडी ने पूर्व में इस मामले में गिरफ्तार किया था। बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी। 

परमवीर के आरोपों पर शिवसेना ने फड़णवीस की रिपोर्ट को बेदम करार दिया

आरोप पत्र में कहा गया है कि चिदंबरम के निर्देश मनी लॉन्ड्रिंग की दिशा में महत्वपूर्ण कदम थे। ईडी ने दावा किया कि लोग पी चिदंबरम से काम कराने के लिए उनके पुत्र और सहयोगियों से संपर्क करते थे। इसके एवज में कार्ति उन कंपनियों के लिए अनुचित लाभ लेते थे, जिनपर उनका सीधा स्वामित्व नहीं था। अपने नजदीकी लोगों के जरिये वह यह लाभ लेते थे। 

यहां पढ़े बॉलीवुड से जुड़ी बड़ी खबरें... 

'मुन्नी बदनाम' गाने पर एक साथ थिरकीं मलाइका अरोड़ा और नोरा फतेही, वीडियो हुआ वायरल

रोमांटिक पोज दे रहे थे मलाइका-अर्जुन, करीना ने सरेआम पूछा यह पर्सनल सवाल

जिम लुक में Fans पर कहर बरपा रही मलाइका, जैकेट ने लुक को बनाया Bold

खत्म हुई जुदाई, कोरोना के बाद पहली बार साथ दिखें अर्जुन-मलाइका

पूरे 1 महीने बाद कोरोना निगेटिव आए अर्जुन कपूर, फैंस से कहा- इसे हल्के में ना लें....

अर्जुन और निक की तरह अगर आपको भी है बड़ी उम्र की लड़कियों से प्यार, तो यहां जानें फायदे

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.