Thursday, Jul 02, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 2

Last Updated: Thu Jul 02 2020 03:24 PM

corona virus

Total Cases

606,907

Recovered

360,378

Deaths

17,860

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA180,298
  • NEW DELHI89,802
  • TAMIL NADU86,224
  • GUJARAT32,643
  • UTTAR PRADESH24,056
  • RAJASTHAN18,427
  • WEST BENGAL17,907
  • ANDHRA PRADESH16,097
  • TELANGANA15,394
  • HARYANA15,201
  • KARNATAKA14,295
  • MADHYA PRADESH13,861
  • BIHAR10,392
  • ASSAM7,836
  • ODISHA7,545
  • JAMMU & KASHMIR7,237
  • PUNJAB5,418
  • KERALA4,312
  • UTTARAKHAND2,831
  • CHHATTISGARH2,795
  • JHARKHAND2,426
  • TRIPURA1,385
  • GOA1,251
  • MANIPUR1,227
  • LADAKH964
  • HIMACHAL PRADESH942
  • PUDUCHERRY714
  • CHANDIGARH490
  • NAGALAND451
  • DADRA AND NAGAR HAVELI203
  • ARUNACHAL PRADESH187
  • MIZORAM151
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS97
  • SIKKIM88
  • DAMAN AND DIU66
  • MEGHALAYA51
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
ed money laundering case filed against medanta hospital doctor naresh trehan haryana rkdsnt

मेदांता अस्पताल के डॉक्टर नरेश त्रेहान के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज

  • Updated on 6/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने गुरुग्राम में मेदांता अस्पताल को जमीन आवंटन के संबंध चर्चित हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. नरेश त्रेहान (Naresh Trehan) और अन्य के खिलाफ धन शोधन का एक मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि जांच एजेंसी ने धन शोधन रोकथाम कानून (PMLA) के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया है। अस्पताल के सह संस्थापक त्रेहान सहित 16 लोगों के खिलाफ गुडग़ांव पुलिस द्वारा एक प्राथमिकी दर्ज करने के बाद ईडी ने यह कदम उठाया है। 

सुब्रमण्यम स्वामी के ट्वीट पर उठ रही दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

अधिकारियों ने कहा कि पुलिस की शिकायत में दर्ज सभी आरोपियों के नाम को ईडी ने शामिल किया है। सेक्टर-38 में मेडिसिटी के लिए 53 एकड़ जमीन के आवंटन में कथित अनियमितता के मामले में गुडग़ांव की अतिरिक्त सत्र अदालत के निर्देश के बाद पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की थी। इस जमीन के लिए 2004 में वहां के स्थानीय निवासियों को बेदखल किया गया था। 

AAP बोली- दिल्ली की जनता कोरोना से त्रस्त है, मगर भाजपा प्रचार में व्यस्त है

 

हालांकि, मेदांता ने मामले में लगाए गए आरोपों को गलत और प्रेरित बताया है। पिछले सप्ताह गुरुग्राम में सदर थाने में मामला दर्ज किया गया और आरोपियों के खिलाफ पीएमएलए तथा भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धाराएं लगायी गयी। प्राथमिकी में कहा गया है कि भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी (आपराधिक साजिश), 406 (आपराधिक विश्वासघात), 463, 467,468 और 471 (सभी धाराएं दस्तावेजों और रिकॉर्ड से जालसाजी से संबंधित हैं) भी लगायी गयी है। 

मेदांता के एक प्रवक्ता ने उस वक्त कहा था, ‘‘यह शिकायत ऐसे व्यक्ति ने दर्ज करायी है जो खुद को RTI कार्यकर्ता बताते हैं। हालांकि, प्रेस में खबरें आई हैं कि वसूली के लिए उनके खिलाफ मामले दर्ज हुए थे। इस शिकायत में लगाए गए सारे आरोप झूठे, निराधार और दुर्भावना से प्रेरित हैं।’’ 

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज बाथरूम में फिसले, जांघ की हड्डी टूटी

FIR में और ‘‘जिन लोगों के नाम हैं वे सभी सरकारी अधिकारी हैं, जो अपराध में संलिप्त थे।’’ एसएएस इन्फोटेक, जीएल एशिया मॉरीशस, डनअर्न इनवेस्टमेंट (मॉरीशस), नरेश त्रेहान एंड एसोसिएट््स हेल्थ र्सिवसेज, ग्लोबल इंफ्राकॉन, पुंज लॉयड, गुडग़ांव में हरियाणा शहरी विकास निगम (हुडा) के मुख्य प्रशासक, इस्टेट ऑफिसर्स-दो हुडा और सामान्य स्वास्थ्य सेवा, हरियाणा के निदेशक का भी नाम है। 

प्राथमिकी के मुताबिक गुरुग्राम निवासी रमण शर्मा ने आरोप लगाया कि नियमों और नीतियों का उल्लंघन कर और सरकारी सेवकों की साठगांठ से ‘मेडिसिटी प्रोजेक्ट’ के लिए जमीन त्रेहान, सुनील सचदेवा, अतुल पुंज और अनंत जैन को आवंटित की गयी । शिकायतकर्ता ने कहा है कि हरियाणा सरकार ने भूमि अधिग्रहण कानून 1984 के प्रावधानों के तहत सार्वजनिक उद्देश्य से 2004 में उस इलाके से वहां के स्थानीय लोगों को बेदखल कर दिया, जिसे अब सेक्टर 38 कहा जाता है । 

बाबरी विध्वंस मामले में आरोपियों की होगी पेशी, स्पेशल सीबीआई कोर्ट का निर्देश

इसके बाद राज्य सरकार ने हुडा के जरिए ‘मेडिसिटी प्रोजेक्ट’ के लिए विज्ञापन निकाला । इसमें कहा गया था कि अंतरराष्ट्रीय स्तर का एक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, शैक्षिक चिकित्सा संस्थान और चिकित्सा तथा अनुसंधान से जुड़े अन्य संस्थान बनाए जाएंगे । इसके साथ ही एक शॉपिंग मॉल और यात्री निवास भी बनाए जाएंगे। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि त्रेहान, सचदेवा, पुंज और जैन को लाभ पहुंचाने के लिए आरोपी सरकारी अधिकारियों ने विभिन्न चरणों में योग्यता, नियम-शर्तों को ताक पर रख दिया । इससे राज्य को गंभीर नुकसान हुआ । 

तृणमूल कांग्रेस ने कहा- कोरोना महामारी में भी वोटों की भूखी है BJP और शाह...

शिकायतकर्ता ने कहा है, ‘‘आरोपी नंबर 5 (सरकारी अधिकारी) ने पद का फायदा उठाकर आपराधिक कदाचार किया और आरोपी नंबर एक, दो तीन और चार (त्रेहान, सचदेवा, पुंज और जैन) को लाभ पहुंचाया।’’ इसके साथ ही कहा गया है कि सरकारी अधिकारियों ने वित्तीय क्षमता पर विचार किए बिना मेडिसिटी के सारे भूखंड को त्रेहान के हवाले कर दिया। 

 

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.