Monday, Apr 22, 2019

योगी और मायावती पर चुनाव आयोग सख्त, प्रचार पर लगाई रोक

  • Updated on 4/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चुनाव आयोग (Election Commission) ने आचार संहिता (Code Of Conduct) उल्लंघन के मामले में कदम उठाते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) के प्रचार करने पर रोक लगा दी है। इस दौरान योगी आदित्यनाथ और मायावती ना ही किसी रैली में हिस्सा ले पाएंगे और न ही सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर पाएंगे।

बता दें कि चुनाव आयोग की ये रोक 16 अप्रैल से शुरु होगी। योगी आदित्यनाथ के लिए ये 72 घंटे तो वहीं मायावती के लिए ये रोक 48 घंटों तक लागू रहेगी।

आजम के बयान पर भड़के CM योगी, कहा- ऐसे लोगों के लिए बनाया था ‘एंटी- रोमियो स्कवॉयड’

चुनाव आयोग के इस फैसले से साफ है कि योगी आदित्यनाथ तीन दिनों तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी तो वहीं बसपा (BSP) सुप्रीमो मायावती दो दिन तक। बता दें कि हाल ही के दिनों में मायावती और योगी आदित्यनाथ दोनों ने ही आचार संहिता का उल्लंघन किया था। जिसका खामियाजा अब उन्हें भुगतना पड़ रहा है।

क्या था मामला

कुछ दिनों पहले यूपी के देवबंद में रैली के दौरान बसपा प्रमुख मायावती ने मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के लोगों से वोटों की अपील की थी। मायावती ने कहा था ‘मुस्लिम समुदाय के लोग अपना वोट बंटने ना दें और सिर्फ महागठबंधन के लिए वोट दें।’ मायावती पर धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने का आरोप लगा था और उन्होंने धर्म के नाम पर वोट मांगने के नियम का उल्लंघन है।

उमा भारती ने चुनाव न लड़ने की बताई वजह, कहा- हनुमान से हूं प्रभावित

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मायावती पर पलटवार करते हुए कहा कि अगर विपक्ष को अली पसंद है, तो हमें बजरंग बली पसंद हैं। दोनों नेताओं के इन बयानों पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया था और दोनों नेताओं को सख्त हिदायत दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.