Friday, Sep 30, 2022
-->
election commission credibility doubtful bjp conspiring to postpone elections up: baghel rkdsnt

चुनाव आयोग की विश्वसनीयता संदिग्ध, क्या BJP चुनाव टालने का कर रही षडयंत्र : बघेल

  • Updated on 12/28/2021


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चुनाव आयोग की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए मंगलवार को कहा कि क्या भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में चुनाव टालने के लिए षडयंत्र कर रही है। बघेल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि निर्वाचन आयोग ने देश भर के स्वास्थ्य सचिवों की बैठक की है। वह किस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं, मैं नहीं बता सकता। 

लुधियाना कोर्ट विस्फोट मामला: बम लगाने वाले से जुड़े शख्स को जर्मनी में हिरासत में लिया

 

उन्होंने कहा कि एक तरफ पश्चिम बंगाल में लोगों की मौत हो रही थी और लगातार (विधानसभा) चुनाव कराया जा रहा था। इस दौरान मांग की गई थी कि चुनाव एक ही चरण में करा दिया जाए, लेकिन इसे नहीं माना गया। आज ओमीक्रोन के इक्का दुक्का मामले हैं फिर भी योगी इतना घबराए हुए हैं। क्या बीजेपी चुनाव टालने के लिए षडयंत्र तो नहीं कर रही है। वह उत्तर प्रदेश के चुनाव को लेकर घबराई हुई तो नहीं है कि। ऐसे कई प्रकार के कयास लगाये जा रहे हैं। 

इत्र कोरोबारी को लेकर अखिलेश बोले- BJP ने गलती से अपने ही व्यवसायी पर मारा छापा

मुख्यमंत्री ने कहा कि सबकी निगाहें निर्वाचन आयोग पर है, वह क्या निर्णय लेता है। वैसे भी निर्वाचन आयोग की विश्वसनीयता अब संदिग्ध हो गई है। इसलिए कि यह स्वतंत्र संस्था है और जब आयोग प्रमुख को प्रधानमंत्री कार्यालय से मीटिंग के लिए बुलाया जाए और वह मीटिंग में शामिल हो तब फिर उसकी स्वतंत्रता पर प्रश्नवाचक तो लगेगा ही। ऐसी स्थिति में वही होगा जो पीएमओ कहेगा।

राहुल गांधी के बाद केजरीवाल ने किया रेजिडेंट डॉक्टरों का समर्थन, पीएम मोदी से लगाई गुहार

 

रायपुर के धर्म संसद में धर्मगुरु कालीचरण महाराज द्वारा महात्मा गांधी को लेकर अपशब्द कहा जाना और ? वीडियो जारी करके अपने बयान पर कायम रहने की बात कहने को लेकर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है कि उनके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज हो चुका है। यदि वह बहुत साहसी हैं तो यहां आकर वह आत्मसमर्पण करें। बाहर-बाहर इस प्रकार से बयानबाजी करने के बजाय वह आएं और आकर आत्पसमर्पण करें। नहीं तो छत्तीसगढ़ पुलिस गिरफ्तार करेगी। 

कालीचरण महाराज FIR के बावजूद महात्मा गांधी के खिलाफ अपने बयान पर अडिग

धर्म संसद में कांग्रेस नेताओं के शामिल होने और आयोजन करने को लेकर पूछे गए सवाल पर बघेल ने कहा कि धर्म संसद के आयोजक कांग्रेसी नहीं थे। धर्म संसद का उद्घाटन करने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह गए थे। क्या रमन सिंह कांग्रेस के निमंत्रण पर गए थे। पहले यह बताएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो आयोजक हैं उनसे भी पुलिस पूछताछ करेगी। प्राथमिकी दर्ज हो गयी है। मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी के सवाल पर बघेल ने कहा कि इस मामले में गिरफ्तारी होगी, छोड़े जाने का सवाल ही नहीं उठता है। 

बिल्डर को कब्जा प्रमाण पत्र जारी करने के लिए NGT ने नोएडा प्राधिकरण को लगाई फटकार

रायपुर के रावणभाठा मैदान में रविवार शाम को दो दिवसीय धर्म संसद के अंतिम दिन कालीचरण महाराज ने अपने भाषण के दौरान राष्ट्रपिता के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे की प्रशंसा की थी। इस दौरान कालीचरण महाराज ने लोगों से कहा था कि धर्म की रक्षा के लिए एक कट्टर हिंदू नेता को सरकार के मुखिया के तौर पर चुनना चाहिए। धर्मगुरु के इस बयान के बाद सत्ताधारी दल कांग्रेस के नेताओं की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा उनकी गिरफ्तारी की कोशिश की जा रही है।

चंडीगढ़ निकाय चुनाव के बाद चड्ढा ने BJP पर लगाए AAP पार्षदों को रुपये देने की पेशकश के आरोप

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.