Thursday, May 23, 2019

प्रज्ञा ठाकुर को बाबरी मस्जिद, हेमंत करकरे पर दिए बयान पर EC का नोटिस

  • Updated on 4/21/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चुनाव आयोग Election Commission ने 26:11 के मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे Hemant Karkare और बाबरी मस्जिद के बारे में दिए गये विवादित बयान पर भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा BJP की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर Sadhvi Pragya Thakur को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। खास बात यह है कि चुनाव आयोग के नोटिस के बावजूद साध्वी प्रज्ञा के विवादित बोल थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। 

प्रज्ञा ठाकुर के विवादित बोल बादस्तूर जारी, अब बाबरी मस्जिद पर दिया बयान

29 सितम्बर, 2008 को मालेगांव में हुये बम धमाकों के मामले में प्रज्ञा आरोपी हैं और तकरीबन 9 साल जेल में रही हैं। इस बहुर्चिचत मामले में वह इन दिनों जमानत पर चल रही हैं। जिला चुनाव अधिकारी एवं भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े ने बताया, ‘‘हमने प्रज्ञा के इस बयान पर स्वत: संज्ञान लिया है। इस संबंध में हमने प्रज्ञा एवं कार्यक्रम के आयोजक भाजपा भोपाल जिलाध्यक्ष विकास वीराना को आज कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।’’

CJI गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न आरोपों की जांच दोनों पक्षों के नजरिये से हो: कांग्रेस

उन्होंने कहा, ‘‘इस संबंध में वे एक दिन में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें, अन्यथा समयावधि में उत्तर प्रस्तुत न किये जाने की दशा में एक पक्षीय कार्रवाई की जाएगी।’’ बृहस्पतिवार शाम को भोपाल उत्तर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा BJP कार्यकर्ताओं की बैठक में मुम्बई एटीएस के तत्कालीन प्रमुख हेमंत करकरे Hemant Karkare पर जेल में यातना देने का आरोप लगाते हुए प्रज्ञा ने कहा था कि मैंने करकरे को सर्वनाश होने का शाप दिया था और इसके सवा माह बाद आतंकवादियों ने उन्हें मार दिया।  हालांकि, इस बयान के बाद चारों तरफ से आलोचनाओं से घिरीं प्रज्ञा ने एक दिन बाद शुक्रवार को अपना बयान वापस ले लिया था और माफी भी मांग ली थी। 

प्रज्ञा को टिकट देने को लेकर भाजपा पर निशाना 
उधर, कांग्रेस Congress के राज्यसभा सदस्य राजीव गौड़ा ने मालेगांव बम विस्फोट आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाये जाने को लेकर शनिवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि क्या उसके पास कोई और उम्मीदवार नहीं था जो आतंकवाद की आरोपी को टिकट देना पड़ा। भाजपा ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है, जहां से कांग्रेस Congress  के वरिष्ठ नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चुनाव मैदान में हैं। 

दिग्विजय का RSS पर निशाना, बोले- संघ का हिंदुत्व जोड़ता नहीं, तोड़ता है

प्रज्ञा यह कहने को लेकर आलोचना का सामना कर रही हैं कि महाराष्ट्र एटीएस के तत्कालीन प्रमुख दिवंगत हेमंत करकरे Hemant Karkare मुंबई आतंकवादी हमले में मारे गए क्योंकि उन्होंने उन्हें उस वक्त ‘‘शाप’’ दिया था जब करकरे ने महाराष्ट्र एटीएस के तत्कालीन प्रमुख रहने के दौरान मालेगांव विस्फोट मामले की जांच के दौरान उन्हें ‘‘प्रताडि़त’’ किया था। कांग्रेस की घोषणापत्र समिति के संयोजक गौड़ा ने सवाल किया, ‘‘भाजपा  BJP के पास कोई अन्य उम्मीदवार नहीं था कि उन्हें आतंक की आरोपी को उतारना पड़ा?’’

प्रज्ञा ठाकुर पर छत्तीसगढ़ में निशाना साध रहे हैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

उन्होंने कहा, ‘‘वह (प्रज्ञा) स्वास्थ्य कारणों के आधार पर जमानत पर हैं। यहां पर एक ऐसा व्यक्ति है जिस पर इस तरह (मालेगांव विस्फोट मामला) का आरोप है और प्रधानमंत्री उनकी उम्मीदवारी को स्वीकार करते हैं।’’ गौड़ा ने आरोप लगाया, ‘‘(भाजपा द्वारा) नामित किए जाने के बाद, उन्होंने एक शहीद को अपमानित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने देश को इस स्तर तक नीचे ला दिया है।’’

प्रियंका गांधी वाड्रा बोलीं- देश में इतना कमजोर प्रधानमंत्री कभी नहीं रहा

उन्होंने दावा किया कि प्रज्ञा को पहले मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा BJP सरकार ने आरएसएस कार्यकर्ता सुनील जोशी की हत्या में कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया था। जोशी की 29 दिसम्बर 2007 को मध्यप्रदेश के देवास के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हालांकि मध्यप्रदेश की एक अदालत ने फरवरी 2017 में मामले में प्रज्ञा और सात अन्य को बरी कर दिया था।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.