Friday, Feb 26, 2021
-->
election commission says parties reasons for selecting candidates with criminal image rkdsnt

पार्टियों को आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों का चुनने की वजह बतानी होगी : चुनाव आयोग

  • Updated on 9/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजनीतिक दलों को अब अपनी वेबसाइट और सोशल मीडिया मंचों पर अनिवार्य रूप से उसके उम्मीदवारों पर लंबित अपराधिक मामलों समेत पूरा विवरण प्रकाशित करना होगा। साथ ही ऐसे उम्मीदवारों के चयन की वजहों के बारे में भी सूचित करना होगा ताकि मतदाता को पूरी जानकारी मिल सके। 

उच्चतम न्यायालय की ओर से इस वर्ष फरवरी में दिए गए निर्देशों के बाद मार्च में चुनाव आयोग (Election Commission) ने राजनीतिक दलों से यह स्पष्ट करने को कहा था कि उन्होंने चुनाव लडऩे के लिए आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों का चयन क्यों किया? बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान पहली बार पूरी तरह ऐसा होगा, जहां पार्टियों को अपने उम्मीदवारों से संबंधित ऐसे विवरण सार्वजनिक करने होंगे। 

राहुल गांधी ने किसानों से किया डिजिटल संवाद में मोदी सरकार को घेरा

पार्टियों को इस बारे में भी सफाई देनी होगी कि बिना आपराधिक पृष्ठभूमि वाले अन्य लोग बतौर उम्मीदवार क्यों नहीं चुने जा सके? आयोग ने शुक्रवार को कहा, 'मात्र चुनाव जीतने की क्षमता के अलावा उम्मीदवारों के चयन के पीछे के कारणों के साथ ही उनकी शैक्षणिक योग्यता, उपलब्धियां और योग्यता संबंधी सूचना भी देनी होगी।'

कांग्रेस बोली- खेत-खलिहानों को पूंजीपतियों के हाथ गिरवी रखने की साजिश कर रही है मोदी सरकार

उन्होंने कहा, 'सभी राजनीतिक दलों को (केंद्र और राज्य चुनाव स्तर पर) अनिवार्य रूप से अपनी वेबसाइट पर उनके द्वारा चुने गए उम्मीदवारों पर लंबित आपराधिक मामलों के साथ ही उम्मीदवारों के बारे में विस्तृत विवरण प्रकाशित करना होगा। साथ ही उन्हें उम्मीदवार बनाए जाने के कारणों की भी सूचना देनी होगी। यह भी बतानाा होगा कि बिना आपराधिक पृष्ठभूमि वाले अन्य लोगों को उम्मीदवार के तौर पर क्यों नहीं चुना गया?'

वोडाफोन मामले में अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता न्यायाधिकरण में मोदी सरकार को लगा झटका

चुनाव आयोग ने कहा कि इसके साथ ही स्थानीय भाषा के एक अखबार के अलावा एक राष्ट्रीय अखबार में भी इस जानकारी को प्रकाशित करना होगा। इसके अलावा, पार्टियों को अपने आधिकारिक सोशल मीडिया मंच जैसे फेसबुक और ट्विटर आदि पर भी यह जानकारी साझा करनी होगी।

रिया की हाई कोर्ट से अपील - ड्रग्स पदार्थ मामले की जांच CBI करे, न कि NCB

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

 

  •  
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.