Thursday, Feb 22, 2018

AAP के चुनावी वीडियो पर चली आयोग की कैंची, कांट-छांट के बाद मिली मंजूरी

  • Updated on 1/10/2017

Navodayatimes

नई दिल्ली (टीम डिजिटल): चुनाव आयोग द्वारा पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी AAP को उसके प्रचार अभियान में इस्तेमाल के वास्ते उसके वीडियो को मंजूरी देने से पहले उसमें करीब एक दर्जन काट-छांट किए गये हैं। इस वीडियो में ड्रग की समस्या, किसानों की आत्महत्या, ग्रंथ को अपवित्र बनाने, दलितों के उत्पीडऩ जैसे कई मुद्दे उठाए गए हैं।

पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज यहां कहा, 10-12 काट-छांट करने के बाद आप को इस वीडियो के वास्ते मंजूरी दी गयी है। आयोग ने पार्टी को पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल, कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया और सिकंदर सिंह मालुका पर निजी हमले वाली सामग्री को वीडियो से हटाने का आदेश दिया है। 

अधिकारी ने बताया कि इसके अलावा, कथित रूप से आत्महत्या करने वाले किसानों और ड्रग के चलते अपनी जान गंवाने वाले युवकों के शव वाले दृश्य को भी हटाने का निर्देश दिया गया है। आगामी विधानसभा चुनाव में सत्ता हथियाने पर आंख गड़ायी आप ने एक घंटे का वीडियो तैयार किया है जिसमें दलितों, किसानों के दुख-दर्द और ड्रग की समस्या को चित्रित किया गया है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.