Saturday, Jan 28, 2023
-->
electricity-employees-protest-against-the-top-management-of-power-corporation

पॉवर कॉपोरेशन के टॉप मैनेजमेंट के खिलाफ बिजली कर्मचारियों का विरोध प्रदर्शन

  • Updated on 11/29/2022

 

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। ऊर्जा निगमों के शीर्ष प्रबन्धन के रवैये के विरोध और बिजली कर्मियों की लंबित मांगों के समर्थन में मंगलवार को बिजली कर्मियों ने जुलूस निकाल कर अपना विरोध दर्ज कराया। राजनगर स्थित मुख्य अभियंता कार्यालय से जुलूस शुरू किया गया। इस दौरान विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति ने ऊर्जा निगमों में टकराव के लिए शीर्ष प्रबंधन की नकारात्मक व हठधर्मी कार्यप्रणाली को जिम्मेदार ठहराया। इसके साथ ही उर्जा निगम के चेयरमैन पर सरकार को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए ऊर्जा मंत्री से हस्तक्षेप करने की अपील की।

संघर्ष समिति के पदाधिकारी आलोक त्रिपाठी ने बताया कि ऊर्जा निगमों के शीर्ष प्रबन्धन की हठधर्मिता और बिजलीकर्मियों की समस्याओं के प्रति उपेक्षात्मक रवैये के कारण आज पूरे प्रदेश के बिजलीकर्मी संघर्ष के रास्ते पर हैं। यदि शीर्ष प्रबंधन द्विपक्षीय वार्ता से समस्याओं का समाधान निकालने की कोशिश करता। तो यह टकराव उत्पन्न न होता और न ही ऊर्जा की परफॉर्मेंस व रेटिंग गिरती। पदाधिकारियों ने आगे बताया कि बुधवार को भी कार्य बहिष्कार और विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।

बिजलीकर्मियों ने यह भी चेताया कि यदि शांतिपूर्ण आंदोलन पर या किसी भी बिजलीकर्मी पर कोई दमनात्मक या उत्पीडऩ की कार्यवाही करने की कोशिश भी की गई तो इसकी तीखी प्रतिक्रिया होगी। जिसमें प्रदेश भर के लगभग 25 हजार से ज्यादा अभियंता व कर्मचारी तत्काल हड़ताल पर चले जाएंगे। इस दौरान अरशद अली, नेत्रपाल, आरपी सिंह, केके सोलंकी, धर्मेंद्र मौर्या, योगेंद्र लाखा, अरविंद सूर्या, राज सिंह, धीरज त्यागी, विजय शर्मा, सतवीर सिंह, महेश समानिया, शिवम त्यागी आदि मौजूद रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.