Tuesday, Sep 28, 2021
-->
elgar case court directs nia to file reply on sudha bharadwaj bail plea rkdsnt

कोर्ट ने NIA को सुधा भारद्वाज की जमानत अर्जी पर जवाब दाखिल करने का दिया निर्देश

  • Updated on 6/22/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बंबई उच्च न्यायालय ने मंगलवार को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को एल्गार परिषद-माओवादी संपर्क मामले में आरोपी सुधा भारद्वाज की जमानत अर्जी पर तीन जुलाई तक हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया।

प्रशांत किशोर से मिले पवार, NCP प्रमुख के आवास पर जुटेंगे विपक्षी नेता

  भारद्वाज को 28 अगस्त, 2018 को गिरफ्तार किया गया था और वह तब से जेल में हैं। उनके और कुछ अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया था।      भारद्वाज ने जमानत की गुहार लगाते हुए दलील दी थी कि निचली अदालत के न्यायाधीश को उनके खिलाफ दायर 2019 के आरोपपत्र पर संज्ञान लेने का अधिकार नहीं है क्योंकि उस समय न्यायाधीश यूएपीए से जुड़े मामलों पर सुनवाई के लिए एनआईए कानून के तहत विशेष न्यायाधीश नहीं थे।   

बुजुर्ग के वीडियो का मामला : वीडियो कॉन्फ्रेंस से जांच में जुड़ना चाहते हैं Twitter के MD

  जस्टिस एस एस शिंदे और जस्टिस एन जे जामदार की खंडपीठ ने मंगलवार को एनआईए के वकील संदेश पाटिल को याचिका के जवाब में हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया और अगली सुनवाई के लिए तीन जुलाई की तारीख तय की।   

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- क्या पीएम नीत NDMA ने कोरोना मुआवजे पर फैसला किया था?

  सुधा भारद्वाज ने अपनी याचिका में सूचना के अधिकार कानून के तहत उच्च न्यायालय से प्राप्त दस्तावेजों को आधार बनाते हुए तर्क दिया कि पुणे में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश किशोर वदाने को पुणे पुलिस द्वारा फरवरी 2019 में दाखिल 1,800 पन्नों के पूरक आरोपपत्र पर संज्ञान लेने का अधिकार नहीं है।

अखिलेश यादव का आरोप- BJP राज में घोटालों के कारण बढ़ा विदेश में जमा ‘कालाधन’

 

 

 

 

 

comments

.
.
.
.
.