Friday, Nov 27, 2020

Live Updates: Unlock 6- Day 27

Last Updated: Fri Nov 27 2020 04:13 PM

corona virus

Total Cases

9,311,281

Recovered

8,718,469

Deaths

135,770

  • INDIA9,311,281
  • MAHARASTRA1,795,959
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA878,055
  • TAMIL NADU768,340
  • KERALA578,364
  • NEW DELHI551,262
  • UTTAR PRADESH533,355
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA315,271
  • TELANGANA263,526
  • RAJASTHAN240,676
  • BIHAR230,247
  • CHHATTISGARH221,688
  • HARYANA215,021
  • ASSAM211,427
  • GUJARAT201,949
  • MADHYA PRADESH188,018
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB145,667
  • JHARKHAND104,940
  • JAMMU & KASHMIR104,715
  • UTTARAKHAND70,790
  • GOA45,389
  • PUDUCHERRY36,000
  • HIMACHAL PRADESH33,700
  • TRIPURA32,412
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,269
  • NAGALAND10,674
  • LADAKH7,866
  • SIKKIM4,691
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,631
  • MIZORAM3,647
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,312
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
enhancement-of-risk-and-hardship-allowance-of-paramilitary-forces-soldiers

नींद से जागी सरकार, अर्धसैनिक बलों के जवानों के जोखिम और कठिनाई भत्ते में की गई बढ़ोतरी

  • Updated on 2/24/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सरकार ने जम्मू कश्मीर में तैनात अर्धसैनिक बल के जवानों के जोखिम और कठिनाई भत्ते को बढ़ा दिया है। निचले स्तर के अधिकारियों का भत्ता विशेष लाभ के साथ हर महीने 7,600 रुपये और उच्च अधिकारियों का भत्ता 8,100 रुपये तक बढ़ा दिया गया है।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के एक सप्ताह बाद गृह मंत्रालय का यह फैसला आया है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) या अर्धसैनिक बल के जवानों के लिए जोखिम और कठिनाई भत्ते को बढ़ा दिया गया है।

अरुणाचल प्रदेश के उप मुख्यमंत्री के बंगले में प्रदर्शनकारियों ने लगाई आग

इंस्पेक्टर रैंक तक के जवानों के लिए भत्ते को 9,700 रुपये से बढ़ाकर 17,300 रुपये कर दिया गया है, जबकि अधिकारियों का भत्ता 16,900 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रुपये कर दिया गया है। बढ़ा हुआ भत्ता जम्मू-कश्मीर तथा नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनात सभी अर्धसैनिक बलों पर लागू होगा। यह निर्णय अगस्त 2017 से लंबित था।

वर्ष 2017 में सीएपीएफ में जोखिम और कठिनाई भत्ते के मामले को देखने और समीक्षा करने के लिए केन्द्रीय गृह सचिव की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया था, लेकिन अब तक कोई निर्णय नहीं लिया गया था। बडगाम, पुलवामा और अनंतनाग जैसे दक्षिण कश्मीर के आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों और बारामुला तथा कुपवाड़ा जैसे अन्य संवेदनशील स्थानों पर तैनात सैनिकों को अब बढ़ा हुआ भत्ता मिलेगा।

PM मोदी को सफाईर्किमयों के पैर धोता देख भावुक हुए योगी आदित्यनाथ 

जोखिम और कठिनाई भत्ते के तहत आने वाले नये क्षेत्रों में कुलगाम, शोपियां, किश्तवाड़, डोडा, रामबन तथा उधमपुर और तेलंगाना में एक जिला शामिल हैं। ज्यादातर क्षेत्रों में कोई बदलाव नहीं हुआ है जहां अर्धसैनिक बल तैनात है, लेकिन जम्मू और कश्मीर में नए जिलों को जोड़ा गया है ताकि अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के पास जम्मू में कुछ क्षेत्रों को छोड़कर लगभग पूरे राज्य को कवर किया जा सके।

हालांकि, जम्मू क्षेत्र में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पड़ने वाले क्षेत्र इसमें शामिल हैं। सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर,नारायणपुर, बस्तर (छत्तीसगढ़), लातेहार (झारखंड), गढ़चिरौली (महाराष्ट्र) और मल्कानगिरि (ओडिशा) जैसे नक्सल प्रभावित जिलों को भी इसमें शामिल किया गया है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.