Wednesday, Feb 01, 2023
-->
european mp visit to jammu and kashmir, where did rahul gandhi ban our visit

EU सांसदों के J&K दौरे के खिलाफ राहुल-प्रियंका ने संभाला मोर्चा, कहा- हमारे जाने पर बैन क्यूं

  • Updated on 10/29/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विदेशी सांसदों को जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) जाने की सरकार के इजाजत पर कांग्रेस (Indian National Congress) भड़क गई है। कांग्रेस ने बीजेपी (Bharatiya Janata Party) और केंद्र सरकार के राष्ट्रवाद पर सवाल उठाते हुए कहा कि भारतीय नेताओं के जम्मू-कश्मीर जाने पर राष्ट्रवाद को खतरा बताने वाले विदेशी नेताओं को इजाजत देकर भारत की संसद और लोकतंत्र का अपमान कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि कश्मीर दौरे के लिए यूरोपियन यूनियन के सांसदों का स्वागत हो रहा है, जबकि हमारे जाने पर बैन है। 

आज जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे EU सांसद, हालात का लेंगे जायजा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने भी इसको लेकर मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कश्मीर में यूरोपियन सांसदों का सैर-सपाटा, बड़ा अनोखा राष्ट्रवाद है यह। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, "कश्मीर में यूरोपियन सांसदों को सैर-सपाटा और हस्तक्षेप की इजाजत लेकिन भारतीय सांसदों और नेताओं को पहुँचते ही हवाई अड्डे से वापस भेजा गया।"

आंतरिक मामला मामले के खिलाफ है EU सासंदो का दौरा
कांग्रेस की यह प्रतिक्रिया यूरोपीय संघ के सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल के जम्मू-कश्मीर के प्रस्तावित दौरे को सरकार से इजाजत मिलने पर है। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने दावा किया कि यूरोपीय नेताओं को आमंत्रित करने से जुड़ा सरकार का यह कदम भारत के उस सतत रुख के खिलाफ है कि जम्मू-कश्मीर हमारा आंतरिक मामला है।

J&K बीडीसी चुनाव: 307 में से 217 पर निर्दलियों ने मारी बाजी

भारतीय संसद की संप्रभुता और सांसदों के विशेषाधिकार का हुआ अपमान
उन्होंने एक बयान जारी कर सवाल किया कि क्या भारतीय राष्ट्रवाद का यह नया स्वरूप है? शर्मा ने आरोप लगाया कि यूरोपीय संघ के सांसदों के लिए सरकार की ओर से रेड कार्पेट बिछाया जाना और उन्हें जम्मू-कश्मीर के दौरे के लिए आमंत्रित करना भारतीय संसद की संप्रभुता और सांसदों के विशेषाधिकार का अपमान है। उन्होंने कहा कि जब विपक्ष के नेताओं और संसद के सदस्य श्रीनगर गए तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया और किसी व्यक्ति या संगठन से मिलने की इजाजत नहीं दी गई।

केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा- वह दिन दूर नहीं जब POK में फहराया जाएगा तिरंगा

गुलाम नबी आजाद को दो बार वापस भेज दिया था दिल्ली
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने एक ट्वीट में कहा कि जब भारतीय नेताओं को जम्मू-कश्मीर के लोगों से मुलाकात करने से रोक दिया गया तो फिर राष्ट्रवाद का चैम्पियन होने का दावा करने वालों ने यूरोपीय नेताओं को किस वजह से जम्मू-कश्मीर का दौरा करने की इजाजत दी?

उन्होंने आरोप लगाया कि यह भारत की संसद और लोकतंत्र का अपमान है। कांग्रेस इसलिए और भड़की हुई है कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के बाद हालात का जायजा लेने गए गुलाम नबी आजाद को दो बार वापस दिल्ली भेज दिया था। जब राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्ष के तमाम सांसद और पार्टी के नेता जम्मू-कश्मीर गए तो उन्हें भी एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.