Thursday, Apr 09, 2020
even-before-the-corona-virus-these-two-viruses-have-come-into-india

Good News: कोरोना से जंग में जीतने को तैयार भारत, बनाई ये दवाई

  • Updated on 3/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन (China) के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में आतंक मचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। इस वायरस से अब तक दुनिया भर में लगभग 21,116 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 5 लाख लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं। वहीं ये वायरस भारत (India) में भी तेजी से अपने पांव पसार रहा है। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बीते मंगलवार को 21 दिनों के लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की थी। साथ ही ये अपील की थी कि कोई भी अगले 21 दिनों तक अपने घर से बाहर न निकले। 

सामने आई Coronavirus की सबसे बड़ी कमजोरी, अब आपके पास नहीं भटकेगा ये वायरस

पहले भी आ चुके हैं ऐसे वायरस
इस वायरस के खात्मे के लिए हर देश इसकी दवाई खोजने में लगा है। ऐसे में जब इस वायरस को लेकर एमिटी विश्विविद्यालय के इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी एंड एम्‍यूनोलॉजी में एडवाइजर प्रोफेसर डॉक्‍टर नारायण ऋषि से बात की गई तो उन्होंने हैरान करने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने कहा कि इस कोरोना वायरस से 10 साल पहले भी भारत में दो ऐसे वायरस आए थे जिसके कारण कई लोगों की मौत हुई थी। उनके नाम बी सार्स और मार्स रखे गए थे। 

कोरोना ALERT : पुरुष हो जाएं सावधान, महिलाओं के मकाबले आप पर मंडरा रहा है ज्यादा खतरा!

सामने आई इस दवाई का नाम
ऋषि ने आगे बताया कि अब तक जो भी दवाई बनाई जा रही है या ऐसा कहे कोरोना से लड़न के लिए  जो भी शोध किए जा रहे हैं वो इन  SARS-CoV (Severe Acute Respiratory Syndrome) और MERS-CoV (Middle East respiratory syndrome coronavirus) दोनों को ध्यान में रखकर किए जा रहे हैं। ऐसे में हम ये कह सकते  हैं कि इन दोनों वायरस को मारने के लिए जिस दवा का उपयोग किया गया था उससे बचने के लिए वहीं इस बा भी उपयोग में ली जा रही है। जिसमें काफी हद तक सफलता भी मिली है। हाल ही में Avigan नाम की एक दवाई बनाई गई है जो इस वायरस को मारने में काफी फायदेमंद साबित हो सकती है।

लॉकडाउन के दूसरे दिन सड़क पर दिखें इक्का दुक्का लोग, ऐसे कर रहें जरुरतमंदों की मदद

चलिए हम आपको बता दें कि अगर आपको भी संक्रमण का खतरा सता रहा है तो आपकों भी जांच की जरूरत है। कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए सावधानी और साफ-सफाई रखने की जरूरत है। अगर आपको महसूस हो रहा है कि आपको कोरोना हो सकता है तो जांच करवाएं। लेकिन हर किसी को कोरोना की जांच की जरूरत नहीं है अगर आप में कोरोना के लक्षण दिखे तब ही जांच करवाएं। आपको खासकर पांच परिस्थियों में जांच कराने की जरूरत है। 

Coronavirus की जांच के लिए आएंगी नई मशीनें, इटली- जापान में पहले से हो रहा इस्तेमाल

अगर आपको है ये लक्षण तो कराएं जांच

1. बुखार-खांसी है, गला खराब होने जैसे लक्षण

2. सिर दर्द, मासपेशियों में दर्द, थकान सांस लेने में परेशानी

3. अगर आपने हाल ही में किसी ऐसे देश की यात्रा की है जहां लोग कोराना वायरस से प्रभावित हैं, तो जांच जरूर करवाएं।

4. अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आएं हो जो विदेश यात्रा करके लौटा हो तो आप कोरोना का जांच करवा लें। 

बता दें कि संक्रमण होने पर बुखार होता है, फिर सूखी खांसी होती है और एक हफ्ते बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

Coronavirus: भारत में इस वजह से नहीं बढ़ेगा डेथ रेट, जानिए क्या कहती है नई रिपोर्ट

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

लॉकडाउन: Flipkart यूजर्स के लिए बुरी खबर, कंपनी ने बंद की ये Services

देश में हुए लॉकडाउन के मद्देनजर रेल सेवाएं अब 14 अप्रैल तक रहेंगी बंद

सामने आई Coronavirus की सबसे बड़ी कमजोरी, अब आपके पास नहीं भटकेगा ये वायरस

कोरोना वायरस : जानिए आखिर क्या है 21 दिनों के लॉकडाउन के पीछे का लॉजिक

21 दिनों के लॉकडाउन में घर पर रह कर न हों परेशान, सरकार दे रही है आपको ये सुविधाएं

लॉकडाउन का पहला दिन: Social Distancing के साथ सामान खरीदते हुए दिखे लोग

कोरोना संकट के बीच आज वाराणसी की जनता से मुखातिब होंगे PM मोदी

Corona Virus के दौरान न करे इस दवा का सेवन! हो सकती है मौत

 

comments

.
.
.
.
.