Thursday, Feb 22, 2018

हर दूसरे दिन योगी सरकार पूर्व सीएम अखिलेश के खिलाफ ले रही है एक्शन, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

  • Updated on 4/1/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/राहुल चौहान। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार को बने महज 14 दिन हुए है, लेकिन सरकार ने इतने ही दिनों में कई अहम कदम उठाए है। इस दौरान योगी सरकार ने पूर्व सरकार को निशाने पर लेते हुए उनकी सभी योजनाओं से समाजवादी शब्द हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

इतना ही नहीं, योगी सरकार ने कई और मामलों की भी जांच के आदेश दिए हैं। हालांकि किसी योजना का नाम बदलना कोई नई बात नहीं है। पहले भी देश या किसी भी राज्य में सत्ता बदलने पर पिछली सरकारों की कई योजनाओं के नाम बदले गए हैं और कई को खत्म भी किया गया है।

EVM में कुछ तो गड़बड़ है… ‘दया पता करो’ !

लेकिन, यहां खास ये है कि सीएम योगी हर दूसरे दिन पूर्व सरकार के दौरान हुई गड़बड़ियों की जांच के आदेश दे रहे हैं। इन 14 दिनों मेें योगी सरकार ने पूर्व सरकार की इन सात योजनाओं पर कार्रवाई का डंडा चलाया है।

1. राज्य सरकार की सभी एंबुलेंस से समाजवादी शब्द को हटाया जाएगा। 

2. राज्य से अखिलेश की फोटो वाले तीन करोड़ राशन कार्ड को वापस लिया जाएगा।

3. बुजुर्गों के लिए चलाई जाने वाली समाजवादी श्रवण यात्रा भी सिर्फ श्रवण यात्रा रह जाएगी, समाजवादी शब्द की विदाई कर दी जाएगी।

4. डिंपल यादव की अगुवाई में बने राज्य पोषण मिशन को भंग कर दिया गया है। ये योजना राज्य की कुपोषित महिलाओं और बच्चों की पहचान के लिए चलाई जा रही थी, जिसकी अगुवाई डिंपल यादव कर रही थी।

5. सरकारी स्कूल बैग से अखिलेश यादव की तस्वीर हटाई जा रही है।

6. शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड में पूर्व मंत्री आजम खान पर घोटाले के आरोप लगाए गए और जांच की बात कही गई।

7 सीएम योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश सरकार के दौरान कथित रिवर फ्रंट घोटाले की जांच कराएगी। 45 दिन में  जांच की रिपोर्ट देनी होगी।

लखनऊ: राम मंदिर निर्माण के पक्ष में लगे विवादित पोस्टर, मुस्ल‌िम नेता के चेहरे पर पोती कालिख

योगी सरकार के इस अंदाज से ये तो साफ है कि जल्द ही प्रदेश में कई और बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। लेकिन ये भी साफ है कि इसमें कुछ समय लगेगा। हालांकि ऐसा नहीं है कि पूर्व सरकारों ने प्रदेश में काम नहीं किया। लेकिन, यह भी किसी छिपा नहीं है कि उस दौरान जमकर घोटालें और ओहदे का गलत इस्तेमाल भी खूब हुआ। शायद इसलिए ही यूपी की जनता ने इस बार विधानसभा चुनाव में सभी को नकार दिया और प्रदेश में भाजपा का वनवास खत्म कर सरकार बनाने का मौका दिया।

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लोगों की उम्मीदों पर खरे उतरने की सभी कोशिशें कर रहे हैं। योगी ने ताबड़तोड़ फैसले लेते हुए ये दिखा दिया है कि अगर किसी सरकार की मंशा ठीक हो तो प्रदेश में क्राइम और भ्रष्टाचार को कुछ ही समय में रोका जा सकता है।

रोमियो की शिकायत लड़की को पड़ी महंगी, पुलिस ने किया ये काम

जैसा की हम जानते हैं कि योगी ने अपने सभी आलाधिकारियों और अफसरों को चेताया है कि जनता के साथ किसी भी तरह का शौषण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इससे कहीं न कहीं जनता में सरकार और प्रशासन के प्रति विश्वास बना है। उम्मीद तो यही है कि जो पिछली सरकार नहीं कर पाईं, वह इस बार होगा और यूपी में जनता की हित काम देखने को मिलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.