Tuesday, Dec 07, 2021
-->
exclusive-interview-with-dhadak-cast-member-ishaan-khatter-and-janhvi-kapoor

Exclusive interview : दिलों को धड़काएगी जाह्नवी और ईशान की ‘धड़क’!

  • Updated on 7/19/2018
  • Author : Jyotsna Rawat

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर की पहली फिल्म ‘धड़क’ 20 जुलाई यानी इसी शुक्रवार रिलीज हो रही है। जाह्नवी दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी की बेटी हैं, इस वजह से लोगों में फिल्म को लेकर उत्सुकता बनी हुई है। फिल्म में आशुतोष राणा भी अहम किरदार में हैं। फिल्म का निर्देशन शशांक खेतान ने किया है।

शशांक इससे पहले ‘हंप्टी शर्मा की दुल्हनिया’ और ‘बदरीनाथ की दुल्हनिया’ जैसी फिल्मों का निर्देशन कर चुके हैं। धर्मा प्रोडक्शन के बैनर तले फिल्म बनी है। ‘धड़क’ मराठी ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘सैराट’ की रीक्रिएशन है। फिल्म प्रमोशन के लिए दिल्ली पहुंचे जाह्नवी और ईशान ने नवोदय टाइम्स/पंजाब केसरी से खास बातचीत की। 

फिल्म में प्यारी-सी प्रेम कहानी : जाह्नवी

Navodayatimes

फिल्म के बारे में जाह्नवी कपूर बताती हैं, ‘मैं एक अमीर नेता की बेटी पाथ्र्वी के किरदार में हूं और ईशान खट्टर गरीब लड़के मधुकर के रोल में हैं। फिल्म में दोनों की प्यारी-सी प्रेम कहानी है, जिसमें उनके बीच नोंक-झोंक और आंख-मिचौली को दिखाया गया है। पाथ्र्वी उदयपुर की राजकुमारी है उसके अलग ही तेवर हैं, यहां तक कि मधुकर भी उससे डरता है। शूटिंग के दौरान हमें ऐसा लगता था कि हमारे किरदार असल जिंदगी में एक-दूसरे जैसे हैं। पाथ्र्वी ईशान जैसी है और मधुकर जाह्नवी जैसा।’

यह हमारी पहली दौड़

‘धड़क’ से ही फिल्मी सफर की शुरुआत क्यों, इस सवाल पर जाह्नवी कहती हैं, ‘मैं अभी उस मुकाम पर नहीं हूं कि मुझे खुद किसी फिल्म को चुनने का मौका मिले।

Navodayatimes

मुझे इस फिल्म ने अपना हिस्सा बनने का मौका दिया, मेरे लिए यही बहुत बड़ी बात है। यह हमारी शुरुआत है। ऐसा लग रहा है कि यह हमारी पहली दौड़ है। भगवान ने चाहा तो इसके बाद कई और दौड़ होगी।’ 

राजस्थान को जाना-समझा

उनका कहना है, ‘हमारे लिए यह बहुत बड़ी बात है कि हमें इतनी खूबसूरत कहानी को दोहराने और किसी दूसरे तरीके से पेश करने का मौका मिला। फिल्म के लिए हमने राजस्थान का रहन-सहन जाना, बहुत लोगों से बात की और वहां के कल्चर को समझने की कोशिश की। सबसे मुश्किल मेवाड़ी भाषा को सीखना रहा।’

अपने काम से मोहब्बत

जाह्नवी का कहना है, ‘शशांक ऐसे निर्देशक हैं, जिनके साथ सेट पर माहौल हमेशा खुशनुमा रहता है। वह सकारात्मक सोच वाले इंसान हैं। हर कोई उनके साथ मन से काम करता है। फिल्म में सभी ने शिद्दत से काम किया। शशांक हर चीज तरीके से समझाते हैं। वहीं ईशान और मैं अपने काम से बहुत मोहब्बत करते हैं।’ 

‘धड़क’ के लिए कान छिदवाए : ईशान

फिल्म में अपने किरदार के बारे में ईशान का कहना है, ‘देखिए, किसी भी किरदार में रमने के लिए छोटी से छोटी चीजों पर ध्यान देना जरूरी होता है। जैसे राजस्थान के लोगों की आंखों का रंग थोड़ा हल्का होता है, जिसके लिए हमने लेंस पहने। इसके अलावा बालों का कलर और कपड़ों पर बहुत ध्यान दिया। वहीं मैंने अपने कान भी छिदवाए।’ 

शशांक का काम पसंद

Navodayatimes

पहली फिल्म धड़क ही क्यों, इस सवाल पर ईशान खट्टर कहते हैं, ‘हुआ यह कि करण जौहर सर ने मुझे तीन-चार बार फोन किया और मिलने के लिए अपने ऑफिस बुलाया। शायद वह मुझसे मिलकर जानना चाहते थे कि मैं इस फिल्म के लायक हूं भी या नहीं। मैंने उस समय करण सर से कहा कि मैं शशांक सर से मिलना चाहता हूं। मैं उनसे सिर्फ ऐसे ही मिलना चाहता था, किसी फिल्म के सिलसिलें में नहीं। दरअसल, मैंने उनकी पहली फिल्म देखी थी, मुझे उनका काम बहुत पसंद है। वह अपनी फिल्मों की स्क्रिप्ट खुद लिखते हैं।’

 शशांक के साथ देखी ‘सैराट’

Navodayatimes

ईशान बताते हैं, ‘मैं और निर्देशक शशांक खेतान दो-तीन बार मिले। हमारी मुलाकातों के दौरान शशांक ने नासिक में ‘सैराट’ देखी। ‘सैराट’ देखते ही शशांक के दिमाग में आइडिया आया कि उन्हें यह फिल्म बनानी चाहिए, वहीं मैं उन दिनों उनसे मिल रहा था तो वह मुझे थोड़ा जान गए थे। इत्तेफाक से उन्हें लगा कि मैं इस फिल्म के लिए बेहतर रहूंगा।’ 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.