Monday, May 23, 2022
-->
exclusive-interview-with-paltan-movie-star-actor-sonu-sood

Exclusive interview: ‘पलटन’ में मेजर बिशन सिंह के किरदार में नजर आएंगे सोनू सूद

  • Updated on 8/25/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिडटल।  पंजाब के मोगा से संबंध रखने वाले फिल्म अभिनेता सोनू सूद चीन द्वारा भारत में 1967 में की गई घुसपैठ पर बनी फिल्म ‘पलटन’ में मेजर बिशन सिंह के किरदार में नजर आएंगे। यह फिल्म 7 सितम्बर को रिलीज होने जा रही है। सोनू सूद इन दिनों फिल्मों के प्रोमोशन के लिए काम कर रहे हैं। जालन्धर में पंजाब केसरी/ नवोदय टाइम्स कार्यालय पहुंचे सोनू सूद के साथ हमारी संवाददाता हरलीन कौर ने ‘पलटन’ के अलावा उनकी आने वाली फिल्म ‘सिम्बा’ और उनकी निजी जिंदगी को लेकर बातचीत की। पेश है पूरी बातचीत-

प्र. फिल्म ‘पलटन’ की कहानी कैसी है, फिल्म में आपका किरदार क्या है?

उ. 1962 में भारत-चीन के मध्य हुई जंग को लेकर तो हर कोई वाकिफ है लेकिन 1967 में चीन द्वारा भारत में नाथुला दर्रे के रास्ते की गई घुसपैठ की कहानी बहुत कम लोगों को पता है।

'पलटन' का दिल छू लेने वाला गाना 'रात कितनी' हुआ रिलीज

उस वक्त चीन ने नाथुला के जरिए सिक्किम पर कब्जा करने की कोशिश की थी लेकिन हमारी फौज की एक पलटन ने चीन के इस नापाक इरादे को नाकाम कर दिया था। यदि उस वक्त यह पलटन न होती तो सिक्किम शायद भारत से अलग हो जाता।

Navodayatimes

आज यदि सिक्किम भारत का हिस्सा है तो वह इस पलटन की बदौलत है। फिल्म में इस पलटन की बहादुरी की कहानी दिखाई गई है। मैंने फिल्म में मेजर बिशन सिंह का किरदार निभाया है जिसे टाइगर नाथुला के नाम से जाना जाता था। 

प्र. आने वाली फिल्म ‘सिम्बा’ में रणवीर सिंह के साथ कैमिस्ट्री कैसी है?

उ. उनके साथ काम करने में बहुत मजा आ रहा है। फिल्म की शूटिंग का पहला दौर पूरा हो चुका है और अब मुम्बई में शूटिंग का दूसरा दौर शुरू हो रहा है। फिल्म की पूरी टीम इसको लेकर बहुत उत्साहित है। रोहित शैट्टी और रणबीर सिंह बहुत अनुभवी हैं और उनसे काफी कुछ सीखने को मिल रहा है। फिल्म इसी साल रिलीज होने जा रही है लेकिन अपने किरदार के लिए मराठी सीखना और एक मराठा के अंदाज में उसे बोलना बड़ी चुनौती है जिसके लिए मैं अभ्यास कर रहा हूं। 

प्र. क्या पंजाबी फिल्म करने का इरादा है?

उ. मैंने अपने सर्कल में लोगों को बोला है कि यदि उनके पास पंजाबी की कोई दमदार स्क्रिप्ट हो तो उसे मेरे साथ जरूर शेयर किया जाए क्योंकि मेरी प्राथमिकता स्क्रिप्ट की रहती है। यदि स्क्रिप्ट दमदार हुई तो पंजाबी फिल्म में जरूर काम करूंगा क्योंकि मैं खुद पंजाब से हूं। अगले साल निश्चित तौर पर एक पंजाबी फिल्म के साथ दर्शकों के सामने रू-ब-रू होऊंगा।

'पलटन' के कलाकारों को रियल आर्मी ने कुछ इस तरह दी ट्रेनिंग

प्र. मोगा से नागपुर, नागपुर से चेन्नई और चेन्नई से मुम्बई तक का सफर कैसा रहा?

उ. मैंने अपनी स्कूली शिक्षा मोगा में हासिल की और इलैट्रॉनिक इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए नागपुर चला गया था लेकिन इस दौरान मुझे लगा कि मुझे फिल्मों में काम करना चाहिए। मैंने अपने माता-पिता को अपनी इच्छा बताई तो उन्होंने मेरे सपने को साकार करने में मेरा पूरा साथ दिया। मैं मुम्बई गया और वहां पर संघर्ष शुरू किया।  इस बीच मुझे साऊथ की फिल्मों से ऑफर आए और मुझे चेन्नई जाना पड़ा। मैं

Navodayatimes

ने साऊथ की कई फिल्मों में काम किया। आज मैं बॉलीवुड में काम कर रहा हूं लेकिन मैंने तमिल, तेलगू, मलयालम व अन्य भाषाओं के साथ-साथ फिल्मों के बेसिक्स साऊथ से ही सीखे हैं। यह मेरी जिंदगी का बहुत अच्छा दौर रहा। मैंने 100 से ज्यादा फिल्में की हैं और यह मैं साऊथ से हासिल किए गए अनुभव के आधार पर ही कर सका। 

प्र. क्या कभी ऐसा दौर आया कि फिल्म की शूटिंग और परिवार की प्राथमिकता में से किसी एक को चुनना पड़ा हो?

उ. एक एक्टर के लिए यह बहुत मुश्किल दौर होता है, जब उसे परिवार या अपनी फिल्म की शूटिंग में से एक का चयन करना पड़े। 2007 में मेरी मां की मृत्यु के बाद मैं ‘सिंग इज किंग’ की शूटिंग कर रहा था और फिल्म में मेरा किरदार कॉमिक था। लिहाजा मुझे अपने किरदार में रह कर काम करना था। शूट से पहले कैमरे के बाहर मैं रोता था और शूट दौरान मुझे अपने चेहरे पर खुशी दिखानी पड़ती थी क्योंकि कैमरा हर चीज पकड़ लेता है और एक एक्टर को अपना गम कैमरे के सामने छुपाना पड़ता है।

इस वजह से 7 सितंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी 'पलटन'

प्र. आप सुबह 5.30 बजे उठकर रुटीन में जिम कैसे कर लेते हैं।

उ. इसका श्रेय मेरी मां सरोज सूद को जाता है। वह कॉलेज में हिस्ट्री और इंगलिश की लैक्चरर थीं। सुबह जल्दी उठना उनकी आदत में शुमार था और सुबह 5.30 बजे हमारे घर ट्यूशन पढऩे वाले छात्रों की कतार लग जाती थी। यह आदत उस समय से कायम है और आज भी यदि मैं देरी से भी सोऊं तो मैं 5 बजे उठकर 5.30 बजे जिम पहुंच जाता हूं और सामान्य तौर पर रोजाना अढ़ाई घंटे जिम में बिताता हूं।

Navodayatimes

प्र. फिल्म का चयन किस आधार पर करते हैं?

उ. मेरी प्राथमिकता फिल्म की स्क्रिप्ट होती है। स्क्रिप्ट देखकर यदि मेरे अंदर से आवाज आती है कि यह फिल्म करनी चाहिए तो मैं फिल्म साइन करता हूं अन्यथा मैं फिल्म को ठुकरा देता हूं। ‘दबंग 2’ फिल्म भी मैंने स्क्रिप्ट के आधार पर ही ठुकराई थी।

प्र. क्या जिंदगी में कभी ऐसा हुआ कि आपकी ठुकराई फिल्म हिट हुई हो और आपको अफसोस हुआ हो?

उ. नहीं ऐसा कभी नहीं हुआ कि मैंने कभी फिल्म ठुकराई हो और वह फिल्म हिट हो गई हो। अलबत्ता ऐसा जरूर हुआ है कि मेरी ठुकराई फिल्में फ्लॉप हुईं जिससे मुझे यह संतुष्टि मिली कि मेरा फिल्म ठुकराने का फैसला सही था।

सोनू के साथ खेला गया रैपिड फायर राऊंड

क्या पसंद है                                                      जवाब

जिम या लस्सी                                                    जिम
पंजाब या मुम्बई                                                 पंजाब
पार्टी या मूवीज                                                  मूवीज
छेदी सिंह या जैग                                             छेदी सिंह
 फैमिली या अवार्ड फंक्शन                                 फैमिली

Video: पॉवरफुल है जेपी दत्ता की फिल्म 'पलटन' का ट्रेलर, इंडो-चाइना वॉर की दिखेगी झलक

पुराने घर को पूरी तरह संभाल रहे हैं सोनू सूद

सोनू सूद भले ही पिछले 2 दशक से मुम्बई में बॉलीवुड में काम कर रहे हों लेकिन उनके संबंध मोगा के साथ अभी भी जुड़े हैं। खासतौर पर वह अपने पारम्परिक घर का रख-रखाव पूरी जिम्मेदारी से कर रहे हैं। इसी घर में रहते हुए सोनू ने बचपन में अपने पिता को संघर्ष करते देखा है और इसी घर में अपने माता-पिता से बिजनैस  और  जिंदगी के कई अहम सबक हासिल किए हैं। आज भी वह पंजाब आते हैं तो मोगा में अपने घर जाकर उसकी मैंटीनैंस बारे जानकारी जरूर हासिल करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.