Exclusive Interview: कुदरत के कहर में मोहब्बत की कहानी ‘केदारनाथ’

  • Updated on 12/7/2018
  • Author : chandan jaiswal

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अभिनेता सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा  अली खान की पहली फिल्म ‘केदारनाथ’ आज रिलीज हो रही है। इसमें वह सुशांत सिंह राजपूत की नायिका हैं। अभिषेक कपूर निर्देशित यह फिल्म सच्ची घटना पर आधारित है।

2013 में केदारनाथ की आपदा के बैकड्रॉप में फिल्माई गई यह प्रेम कहानी है। फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत मुस्लिम लड़के का किरदार निभा रहे हैं, तो वहीं सारा अली खान हिंदू लड़की की भूमिका में हैं। फिल्म प्रमोशन के लिए दिल्ली पहुंचे सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान ने पंजाब केसरी/ नवोदय टाइम्स/ जगवाणी/ हिंद समाचार से खास बातचीत की। 

केदारनाथ: सैफ की बेटी ने जीता बॉलीवुड सेलेब्स का दिल, कहा-गॉर्जियस न्यू टैलेंट है सारा

हिंदू हो या मुस्लिम कोई फर्क नहीं : सारा अली खान
सारा अली खान कहती हैं, ‘केदारनाथ में सच्ची प्रेम कहानी है। मोहब्बत की एक ऐसी चीज है जिसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है। इस फिल्म के बाद मुझे महसूस हुआ कि जब आप सच्ची प्रेम कहानी से गुजरते हैं, तब आप हिंदू हो या मुस्लिम इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है।

अगर आपको प्यार चाहिए तो चाहिए, इसे ही बेइंतहा मोहब्बत कहते हैं। इस फिल्म में नाजुक प्रेम कहानी है। हम सभी ने बहुत लगन और ईमानदारी से काम किया है। लोगों को इसे देखने जाना चाहिए।’

Navodayatimes

सभी का नजरिया अलग
फिल्म को लेकर चल रहे विवाद पर सारा ने कहा, ‘हर चीज को लेकर सभी का नजरिया अलग होता है। वैसे यह मेरी पहली फिल्म है और मैं इससे भावनात्मक रूप से जुड़ी हुई हूं। मुझे लगता है फिल्म में विवाद वाली कोई बात ही नहीं है बल्कि यह फिल्म सभी को साथ लेकर चलती है।

सबसे बड़ी बात ये है कि मैं जहां से आती हूं वहां धर्म, जात और इस तरह के छोटे-मोटे विवाद पर ध्यान नहीं दिया जाता लेकिन शायद कुछ लोगों का नजरिया मुझसे अलग हो सकता है।’ 

Navodayatimesकाम से बनाना चाहती पहचान
सारा ने कहा, ‘जब लोग मुझे कहते हैं आपका इंटरव्यू और कॉफी विद करण में आपकी मौजूदगी बहुत अच्छी लगी, तो मुझे काफी खुशी होती है। आपकी कोई तारीफ करे तो मुझे ही नहीं, किसी को भी अच्छा लगेगा लेकिन अभी मुझे कुछ कमी-सी महसूस होती है।

ऐसा लगता है अभी वह समय है जब फिल्म रिलीज हो जाए और लोग मेरे असली काम की तारीफ करें तब मेरी खुशी पूरी होगी। मैं अपने उस काम की तारीफ सुनना चाहती हूं और मैं अपने काम से ही पहचान बनाना चाहती हूं।’ 

बाढ़ पर बनी सबसे बड़ी भारतीय फिल्म है सारा-सुशांत की 'केदारनाथ'

करीना से बहुत कुछ सीखा
सारा के मुताबिक, ‘करीना कपूर बहुत ही मेहनती हैं। मुझे उनका प्रोफेशनलिज्म बहुत पसंद है। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है। जिस तरह से उन्होंने अपना करिअर संभाला है, मैं भी वैसी ही प्रोफेशनल बनना चाहूंगी, अपने करिअर को आगे ले जाना चाहती हूं।’

Navodayatimes

किसी भी मुद्दे पर बातचीत जरूरी : सुशांत 
फिल्म पर चल रहे विवाद पर सुशांत सिंह राजपूत कहते हैं, ‘किसी भी चीज पर बातचीत होनी चाहिए, यह जरूरी है। अगर हम सवाल नहीं उठाएंगे तो तरक्की कैसे करेंगे। फिल्म में किसी भी तरह की धारणा या किसी धर्म की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाया गया है। मैं यह जरूर कहना चाहूंगा कि हिंदू, मुस्लिम वाली बातें एक तरफ और यह फिल्म एक तरफ।’ 

फिल्म देखने की कई वजहें
सुशांत कहते हैं, ‘इस फिल्म को देखने की कोई एक नहीं बल्कि कई वजहें हैं। फिल्म की कहानी प्यार और प्यार की बारीकियों के बारे में हैं। यह फिल्म आपको कहीं से भी तोड़ती नहीं बल्कि सिर्फ जोड़ती है। हमने पूरी शिद्दत से इसमें काम किया है। सबसे बड़ी बात ये है कि प्रतिभाशाली सारा इस फिल्म अपना सफर शुरू कर रही हैं। यह सच्ची और सकारात्मक फिल्म है, जो सभी को देखनी चाहिए।’ 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.