Friday, Jul 01, 2022
-->
exercise-compensation-will-be-given-to-farmers-after-recovering-2200-crores-from-builders

कवायद: बिल्डरों से 2200 करोड़ वसूल कर किसानों को दिया जायेगा मुआवजा

  • Updated on 5/23/2022


नई दिल्ली, टीम डिजीटल/ यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के सात हजार किसानों को 64.7 प्रतिशत का अतिरिक्त मुआवजा देने की तैयारी शुरू कर दी है। यह मुआवजा राशि प्राधिकरण अपने बड़े बकायेदार बिल्डर और संस्थागत आवंटियों से वसूल करेगा। जिस पर लगभग 2200 करोड़ रुपये बकाया है। अगले तीन महीने में किसानों को अतिरिक्त मुआवजा बांटने का लक्ष्य रखा गया है।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यमुना प्राधिकरण किसानों को अतिरिक्त मुआवजा देने की तैयारी शुरू कर दी है। यीडा ने जिन आवंटियों से अतिरिक्त मुआवजा का पैसा लिया जाना है, उनकी सूची तैयार कर ली है। सबसे अधिक पैसा बिल्डरों से वसूल किया जाना है। 15 बिल्डरों से 1600 करोड़ रुपये से अधिक की वसूली की जानी है। इसके अलावा संस्थागत के 13 बड़े आवंटियों से भी वसूली होनी है। इनसे भी 600 करोड़ रुपये से अधिक वसूल किए जाने हैं। इन आवंटियों में शकुंतला वेलफेयर सोसाइटी, जीएल बजाज आदि शामिल हैं। यह पैसा अतिरिक्त मुआवजे का है। यीडा के अधिकारियों के मुताबिक, बकाया वसूली को लेकर इन आवंटियों के साथ जल्द बैठक की जाएगी। यह बैठक बकाया वसूली को लेकर होगी। इस बैठक में तय किया जाएगा कि यह पैसा किस तरह से वसूल किया जाना है। पैसा वसूलने के बाद किसानों को अतिरिक्त मुआवजा बांटा जाएगा। इसके अलावा जेपी ग्रुप को 2500 एकड़ जमीन आवंटित हुई थी। जिन किसानों की यह जमीन है, उन्हें भी अतिरिक्त मुआवजा मिलना है। इन किसानों को अतिरिक्त मुआवजे का पैसा जेपी को देना है। यह पैसा 2200 करोड़ से अलग है। 
यमुना प्राधिकरण के सीईओ डा. अरूणवीर सिंह के मुताबिक अतिरिक्त मुआवजे के बकायेदार आवंटियों के साथ जल्द बैठक करेंगे। उनसे बकाया वसूली को लेकर चर्चा होगी। उस दिन तय करेंगे कि किस तरह से पैसा वसूल किया जाना है। तीन महीने में किसानों को अतिरिक्त मुआवजे का पैसा दे दिया जाएगा।
आवासीय आवंटियों से वसूला जाता रहा है यह पैसा
आवासीय आवंटियों से यमुना प्राधिकरण अतिरिक्त मुआवजे का पैसा पहले से लेना शुरू कर दिया था। हाईकोर्ट के आदेश के बाद किसानों को अतिरिक्त मुआवजा देना बंद कर दिया था। अब किसानों को यह पैसा मिलने लगेगा। यह करीब 550 करोड़ रुपये है।

किस बिल्डर से कितना लिया जाना है अतिरिक्त मुआवजे का पैसा
बिल्डर का नाम बकाया (करोड़ रुपये में)
ओरिस डेवलपर्स प्रालि 174.45
सनवल्र्ड इंफ्रास्ट्रक्चर लि 159.63
एटीएस रियल्टी प्रालि 155.38
सुपरटेक टाउनशिप प्रोजेक्ट लि 157.42
एसडीएस इंफ्राटेक प्रालि 212.63
ग्रीनब्रे इंफ्रा प्रालि 126.90
एचसी इंफ्रासिटी प्रालि 138.06
सुपरटेक लि 164.08
लॉजिक्स बिल्डस्टेट प्रालि 78.08
सिल्वरलाइन फर्निस एंड फर्नीचर्स प्रालि 63.45
एसडीएस हाउसिंग प्रालि 49
ओमनिस डेवलपर्स प्रालि 21.99
आईआईटीएल निंबस द पालम विलेज 39.09
ओसिस रियलटेक प्रालि 11.91
अजय रियलकॉन प्रालि 6.54
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.