Thursday, Nov 14, 2019
expectation of appointment of the  state congress president this week

लोकल राजनीति की पूरी जानकारी रखने वाले को ही कांग्रेस सौंपेगी दिल्ली की कमान!

  • Updated on 8/28/2019

नई दिल्ली/अशोक शर्मा। शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) निधन के बाद पिछले एक माह से खाली पड़े प्रदेश अध्यक्ष पद पर अब जल्द ही नियुक्ति कर दी जाएगी। सूत्रों की मानें तो अध्यक्ष (President) की नियुक्ति पर फैसला इसी सप्ताह ले लिया जाएगा। साथ ही जिस किसी नेता को अब दिल्ली (Delhi) की कमान सौंपी जाएगी, वह दिल्ली की राजनीति के बारे में पूरी तरह से जानकारी रखने वाला ही होगा। 

त्यौहारी सीजन के लिए यात्रियों को विशेष तोहफा, वीआईपी ट्रेनों में यात्रियों को मिलेगा सस्ता टिकट

इस बाबत दिल्ली कांग्रेस के जिलाध्यक्षों की मंगलवार की शाम पार्टी हाईकमान के आवास पर एक खास बैठक हुई। बैठक में दिल्ली के 14 जिलों में से 10 जिला अध्यक्ष शामिल हुए। बैठक में दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको (P. C. Chacko) भी शामिल थे। बताया जा रहा है कि सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर चर्चा की। 

पार्टी हाईकमान ने की सभी जिलाध्यक्षों के साथ बातचीत
सूत्रों के अनुसार, बैठक में सभी जिलाध्यक्षों की ओर से सोनिया गांधी को दिल्ली के वर्तमान सियासी हालात के बारे में भी बताया गया। पार्टी हाईकमान के साथ बैठक का सिलसिला शाम पौने छह बजे के करीब शुरू हुआ जो करीब 20-25 मिनट तक चला। बैठक में अधिकांश जिला अध्यक्षों का कहना था कि दिल्ली विधानसभा के चुनाव कुछ माह बाद होने वाले हैं। अत: प्रदेश का अध्यक्ष बनाने का फैसला जल्द से जल्द लिया जाना चाहिए।

आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को आरक्षण देगी छत्तीसगढ़ सरकार, CM ने लिया फैसला

हल्के तरीके से चल रहा कामकाज
एक जिलाध्यक्ष ने कहा कि संगठन का अध्यक्ष नहीं होने की वजह से इस समय कामकाज हल्के तरीके से चल रहा है और इससे संगठन को नुकसान पहुंच रहा है। सोनिया गांधी से बातचीत के दौरान सभी जिलाध्यक्षों ने एकमत से कहा कि प्रदेश का अध्यक्ष किसी ऐसे नेता को नियुक्त किया जाए, जो पार्टी को गुटबाजी से बचाकर मजबूती प्रदान कर सके और आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी को मजबूती प्रदान कर सके।

दिल्ली संगठन के पूर्व अध्यक्षों की राय लेने के बाद कर दी जाएगी घोषणा
सभी के विचार सुनने के बाद सोनिया गांधी का सिर्फ इतना ही कहना था कि इस बारे में फैसला इसी सप्ताह ले लिया जाएगा। माना जा रहा है कि दिल्ली कांग्रेस की राजनीति में अभी तक जो इस तरह की अफवाहें चल रही थी कि किसी बाहरी दिल्ली जैसे नवजोत सिंह सिद्धू या बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा को भी दिल्ली की कमान सौंपी जा सकती है, लेकिन मंगलवार को पार्टी हाईकमान से हुई बातचीत के बाद इस तरह की सभी चर्चाएं निराधार साबित होती प्रतीत हो रही हैं।

RSS से जुड़े संगठन ने कहा- यौन शिक्षा से बच्चों पर पड़ेगा नकारात्मक असर

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बैठक के बाद दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्षों (Delhi Congress former President) की एक बैठक सोनिया गांधी के साथ होने वाली थी, लेकिन किसी कारणवश बैठक स्थगित कर दी गई। पता चला है कि बुधवार या वीरवार को यह मुलाकात होने के बाद पार्टी हाईकमान द्वारा इसकी घोषणा कर दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.